सेब का सिरका बनाने की विधि-Seb ka sirka banane ki vidhi

Seb ka sirka banane ki vidhi-पिछले कुछ समय से सेब के सिरके या एप्‍पल साइडर विनेगर का प्रयोग काफी हो रहा है। सेब के सिरके का प्रयोग कई घरों में किया जाता है। घरों में खाना पकाने के साथ ही इसका प्रयोग कई और कामों में किया जाता है। आजकल बाजार में कई प्रकार के सिरके उपलब्ध हैं।

परन्तु इन सभी सिरकों में एप्पल सिडर विनेगर को सबसे अधिक अच्छा माना जाता है। इसे सेब के रस को फरमेंट करके बनाया जाता है। इसमें कई प्रकार के पोषक तत्वों पाये जाते हैं जो हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं।

इसको बनाने के लिए सबसे पहले सेब का ​रस निकाला जाता जाता है फिर उस रस में यीस्ट को मिलाकर उसमें मौजूद फ्रूट शुगर को एल्कोहल में बदल जाता है।

इस पूरी प्रक्रिया को फरमेंट या खमीरीकरण कहते हैं। इसके बाद उसमें बैक्टीरिया को डाल दिया जाता है जो एल्कोहल को एसिटिक एसिड में बदल देता है। मैलिक एसिड और एसिटिक एसिड से इस सिरके को इसका स्वाद मिलता है जो खट्टा होता है साथ ही इसकी महक भी मिलती है। इसका रंग पीला व हल्का नारंगी होता है।

सेब के सिरके का उपयोग विभिन्न प्रकार के व्यंजनों का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। इसके अलावा यह हमारी सेहत के लिए भी फायदेमंद है।

हम अपने इस लेख में इसको बनाने का का तरीका बताने जा रहे हैं साथ ही इससे होने वाले फायदों व नुकसान के बारे में विस्तार से जानेंगे।

विषय सूची —

सेब का सिरका क्या है? What is Apple Cider Vinegar in Hindi

सेब का सिरका बनाने की विधि —

सेब के सिरके के फायदे – Benefits of Apple Cider Vinegar in Hindi

सेब के सिरके का उपयोग – How to Use Apple Cider Vinegar

सेब के सिरके के नुकसान – Side Effects of Apple Cider Vinegar

Table of Contents

सेब का सिरका क्या है? What is Apple Cider Vinegar in Hindi

हमने इसके बारे में आपको ऊपर बताया है कि सेब का सिरका या एप्पल साइडर विनेगर को बनाने के लिए  सेब के रस को फरमेन्ट किया जाता है। इस फर्मेन्टेड रस अर्थात साइडर में एथिल अल्कोहल पाया जाता है जो एसीटोबैक्टर नामक बैक्टीरिया के द्वारा एसिटिक एसिड में बदल जाता है।

एसिटिक एसिड सेब के सिरके का एक महत्वपूर्ण यौगिक है। सिरके में यह इसकी तीव्र गंध और स्वाद में खट्टास लाने के लिए भी जिम्मेदार है। सेब के सिरके या एप्पल साइडर विनेगर में विटामिन के साथ कई अन्य पोषक तत्व प्रचूर मात्रा में मौजूद होते हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी होते हैं।

आगे हम इसको बनाने की विधि के साथ ही सेब के सिरके के फायदों के बारे में भी बात करेंगे।

सेब का सिरका बनाने की विधि —how to make apple cider vinegar at home in hindi

नीचे हम आपको सेब का सिरका बनाने की विधि बताने जा रहे हैं। जो बहुत ही आसान है इसे आप खुद अपने घर में भी बना सकते हैं। तो आइये शुरू करते हैं —

  • सबसे पहले 9 से 10 अच्छी क्वालिटी या ऑर्गेनिक सेब लें।
  • दूसरे चरण में सेब के छिलके को साफ करें और बीजों को निकालें।
  • अब साफ हुये सेब को अच्छी तरह से पानी से धो लें साथ ही उनके छोटे-छोटे टुकड़े कर लें।
  • इन टुकड़ों को किसी अच्छी तरह से साफ किये गये सीसे के जार में डाल दें और उसमें पीने का साफ पानी भी डालें।
  • ध्यान रहे पानी उतना ही डालें जिससे सेब के टुकड़े उसमें डूब जाएं।
  • अगले चरण में इस जार को किसी जालीदार सूती कपड़े से ढक दें पर ध्यान रहे इसे एयर टाइट न करें बल्कि बन्द करते हुये ध्यान दें कि उस जालीदार कपड़े से हवा अंदर जार तक जाती रहे।
  • इस चरण में इस तैयार जार को किसी अंधेरी जगह अर्थात जहां रोशनी न पहुंच उस स्थान पर रखें मगर यह देखे की वह गर्म भी हो।
  • इस जार को उसी स्थान पर कम से कम 5 से 6 माह तक रहने दें। समय—समय पर उसे चम्मच से चलाते रहना जरूरी है।
  • 6 माह की अवधि के बाद जार को उस स्थान से निकाल लें।
  • सेब फर्मेंटेड हो चुका होगा और उसके ऊपर एक बैक्टीरिया की परत जम गई होगी।
  • अब इस तरल पदार्थ को किसी साफ जालीदार कपड़े या जार वाले जालीदार कपड़े की सहायता से छानकर दूसरे जार में जमा कर लेते हैं।
  • इस नये जार को फिर से उसी जालीदार कपड़े से ढक कर बंद कर देते हैं।
  • इस जार को फिर से कुछ सप्ताह के लिए उसी अंधेरी व गर्म जगह पर रख दिया जाता है।
  • कुछ सप्ताह बाद इस तैयार सेब के सिरके या एप्पल साइडर विनेगर को किसी अन्य बर्तन में निकाल कर ​फ्रिज में रख लें। अब आप इसका प्रयोग अपने भोजन में कर सकते हैं।

सेब के सिरके के फायदे – Benefits of Apple Cider Vinegar in Hindi

1. पाचन के लिए सेब के सिरके के फायदे –

गैस, अपच औेर पाचन जैसे पेट के रोग वर्तमान समय में आम हो चुके हैं। ऐसे में सेब का सिरका आपकी पाचन शक्ति को बढ़ाने के लिए लाभकारी हो सकता है। अर्थात अगर आप भोजन से पहले कम मात्रा में सेब के सिरके का प्रयोग करते हैं तो यह डाइजेस्टिव जूस को उत्तेजित करने में मदद करता है, जिससे भोजन पचाने में आसानी होती है। ऐसा माना जाता रहा है कि सेब के सिरके का सेवन करना हमारी पाचन शक्ति को बढ़ाने में सकारात्मक प्रभाव डालता है।

2. वजन घटाने में एप्पल विनेगर के फायदे —apple cider vinegar for weight loss in hindi

एप्पल विनेगर अर्थात सेब का सिरका के फायदों में एक वजन को कम करना भी है। ऐसा माना गया है कि अगर हम अपने रोजमर्रा के जीवन में सेब के सिरके का प्रयोग करते हैं तो इससे हमें अपना वजन कम करने में मदद मिलती है। क्योंकि सेब का सिरके में एसिटिक एसिड पाया जाता है, जो शरीर में जमा अतिरिक्त फैट को कम करने में सहायक होता है।

3. डायबिटीज के लिए सेब के सिरके के फायदे –

डायबिटीज या ब्लड शुगर के लिए सेब के सिरके का प्रयोग करना लाभकारी हो सकता है। प्रयोगों से पता चला है कि सेब के सिरके के प्रयोग से ग्लूकोज के स्तर को कम करने में सहायता मिलती है। सेब के सिरके के मुख्य घटक एसिटिक एसिड जो कि एक एंटी-डायबिटिक और एंटी-ग्लाइसेमिक गुणों वाला है इसके इन्हीं गुणों के कारण आपको डायबिटीज में कुछ आराम मिल सकता है।

4. ब्लड प्रेशर के लिए सेब का सिरका —

अगर आप ब्लड प्रेशर से परेशान हैं तो आपके लिए सेब का सिरका फायदेमंद हो सकता है। सेब के सिरके का प्रयोग ब्लड प्रेशर को संतुलित रखने के लिए किया जाता है। क्योंकि एप्पल साइडर विनेगर में पाये जाने वाले एसिटिक एसिड में एंटी-ह्यपरटेंसिव (Antihypertensive) अर्थात ब्लड प्रेशर को कम करने का गुण भी पाया जाता है। अर्थात अगर सेब के सिरके का प्रयोग एक संतुलित मात्रा में किया जाय तो ब्लड प्रेशर के खतरे को कम किया जा सकता है। परन्तु ध्यान देना चाहिए जिन्हें लो—ब्लड प्रेशर की शिकायत रहती है उन्हें सेब के सिरके का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

5. जोड़ों में दर्द के लिए एप्पल के सिरके के फायदे —

अगर आपको जोड़ों के दर्द की समस्या है, तो सेब का सिरका आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। इसमें पाये जाने वाले एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण गठिया या जोड़ों के दर्द से कुछ हद तक राहत पहुंचाने में मदद कर सकते हैं।

6. कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए सेब के सिरके के फायदे —

हमारे शरीर में बढ़ता हुआ कोलेस्ट्रॉल हृदय रोगों के अलावा हार्ट अटैक का प्रमुख कारण बन सकता है। ऐसी परिस्थिति से बचाव के लिए आप सेब के सिरके पर भरोसा कर सकते हैं। क्योंकि एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) के एक शोध में बताया गया है कि हमारे भोजन में पाया जाने वाला एसिटिक एसिड, सीरम टोटल कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड (Triglyceride – जो अलग-अलग प्रकार के फैटी एसिडों का का मिश्रण है) को कम करने में मदगार पाया गया है।

इसके अतिरिक्त एप्पल वेनेगर खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने व अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाने में मदद कर सकता है।  सेब का सिरके का उपयोग हमारे शरीर से कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करके हृदय रोग से बचाने में मदद कर सकता है।

7. रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए सेब के सिरके का उपयोग — 

एप्पल साइडर विनेगर में फ्लेवोनोइड और एसिटिक एसिड पाये जाते हैं। जिसे हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है। इसके साथ ही सेब के सिरके में एंटी-माइक्रोबियल गुण भी पाये जाते हैं जो कई प्रकार के खतरनाक बैक्टीरिया से लड़कर हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में सहायता करते हैं।

8. त्वचा के लिए सेब के सिरके के लाभ —

सेब का सिरका हमारे लिए बहुत की फायदेमंद तो है ही साथ ही यह मुंहासों के लिए भी असरदार हो सकता है। हालांकि इसका कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है। किन्तु इसमें पाये जाने वाले एंटीमाइक्रोबियल गुण जो मुंहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया के प्रभाव को नष्ट करने में हमारी मदद करते हैं। यह हमारी त्वचा को  बैक्टीरियल संक्रमण से बचाने में सहायक हो सकता है। ध्यान रहे अगर आप इसका प्रयोग कर रहें हैं तो  इसका उपयोग गुलाब जल या पानी के साथ मिलाकर क्लींजर की तरह करें।

9. बालों के लिए सेब के सिरके के लाभ —

बालों के लिए भी सेब के सिरके का प्रयोग किया जा सकता है। इसके लिए शैम्पू से बालों को साफ करने के बाद पानी में में कुछ मात्रा में एप्पल विनेगर को मिला लें और उस पानी से बालों को धो लें। ऐसा करने से बाल स्वस्थ्य और चमकदान हो जायेंगे। पर ध्यान दें अगर आप प्रथम बार इसका प्रयोग कर रहें हैं तो उससे पहले इसे अपने काम के पीछे कुछ मात्रा में लगा लें अगर उस स्थान पर कुछ समय बाद जल या अन्य कोई परेशानी हो रही है तो आपको अपने डॉक्टर से सलाह ले लेनी चाहिए।

10. दांतों के लिए एप्पल साइडर सिरका के फायदे —

सेब के सिरके का प्रयोग दांतों के पीलेपन के लिए ब्लीचिंग की तरह कर सकते हैैं। इसके पयोग से दांतों के रंग में सुधार होता है और वह स्वस्थ्य होते है पर ध्यान दें की सिरके का अधिक प्रयोग करना दांतों के लिए खतरना हो सकता है।

11. सूजन को कम करने में सेब के सिरके के फायदे —

यदि आप आपकी त्वचा धूप में जल गई हो और उसमें कारण सूजन आ गई है तो सेब के सिरके को पानी में मिला लेना चाहिए और आपको उस पानी से नहा लेना चाहिए इससे आपकी सूजन कम हो जायेगी। इसके अतिरिक्त अगर आपके अन्दरूनी भागों में भी सूजन है तो आपको सेब के सिरके का प्रयोग सलाद में डालकर या पानी के साथ करना चाहिए। इसके अलावा सेब का सिरका पैर और टखने की सूजन को कम करने में मदद कर सकता है।

सेब के सिरके के अन्य लाभ –

  • इसमे एंटीबैक्टीरियल तत्व  पाये जाते हैं जो त्वचा से लाल निशान हटाने में मदद करते हैं।
  • सेब के सिरके का रोज प्रयोग करने से कैंसर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोका जा सकता है।
  • मुँह की बदबू खत्म करने के लिए ​सेब के सिरके का प्रयोग किया जा सकता है।
  • यह त्वचा के टोनर की तरह कार्य करता है। इसके प्रयोग से त्वचा में मुहाँसे कम हो जाते हैं।
  • सेब के सिरके से रोज सुबह गरारा करने से दांतों के पीलापन को हटाया जा सकता है।
  • सेब के सिरके का प्रयोग यीस्ट संक्रमण को ठीक करने के लिए भी किया जाता है।
  • सेब के सिरके के प्रयोग कर नाखूनों की चमक को बढ़ाया जा सकता है। 

सेब के सिरके का उपयोग – How use apple cider vinegar in hindi

आगे हम सेब के सिरके के कुछ उपयोगों के बारे में बता रहे हैं।

  • इसका प्रयोग डॉक्टर की सलाह के अनुसार एक टॉनिक की तरह किया जा सकता है। इसके प्रयोग के लिए किसी भी सिट्रस फल के जूस में इसके दो चम्मच रस को मिला लें और पील लें यह आपके लिए फायदेमंद होगा।
  • सलाद में छिड़कर का भी सेब के सिरके का प्रयोग किया जा सकता है।
  • सोने से पहले डॉक्टर की सलाह पर एक या दो चम्मच सेब के सिरके का प्रयोग किया जा सकता है।
  • सेब के सिरके को पानी के साथ मिलाकर आप अपने बालों को धो सकते हैं। इससे आपके बाल तो मजबूत होंगे ही साथ ही डैंड्रफ की समस्या भी कम होगी।
  • एक चम्मच सेब के सिरके का सेवन पानी में मिलाकर भी कर सकते हैं।
  • सेब का सिरका दुर्गंद और बक्टेरिया को खत्म करता है, क्योंकि इसमें एन्टीबैटीरियल गुण पाये जाते हैं। इसके प्रयोग से आप अपने घर को साफ कर सकते हैं।

सेब के सिरके के नुकसान – Side Effects of Apple Cider Vinegar

सेब का सिरके का प्रयोग करना काफी लोकप्रिय है क्योंकि इसके कई फायदे हमसे जुड़े हुये हैं। लेकिन कभी—कभी इसका सेवन हमारे शरीर के लिए हानिकारकहो सकता है। सेब के सिरके का अधिकतर प्रयोग वजन को कम करने व डायबिटीज जैसी अन्य बीमारियों को कम करने के लिए किया जाता है परन्तु इसके अत्यधिक प्रयोग से नुकसान हो सकता है। आइये इससे होने वाले कुछ नुकसानों के बारे में जानते हैं।

  • सेब के सिरके में एसिड पाया जाता है। जिसके अधिक प्रयोग से इसोफोगस, टूथ इनेमल और पेट की परेशानियां पैदा हो सकती हैं। अगर आप इसका प्रयोग सीधे त्वचा पर करते हैं तो खुजली, जलन जैसी समस्या हो सकती है। इसके सीधे त्वचा पर प्रयोग के लिए हमेशा मना किया जाता है। इसके लिए इसको पानी, गुलाबजल, शहद, जूस  आदि में मिलाकर प्रयोग करने की सलाह दी जाती है।
  • सेब के सिरके में पाया जाने वाला एसिड शरीर में मौजूद ब्लड में पोटैशियम के स्तर को कम कर सकता है। सेब के सिरके को सीधे दांतों पर प्रयोग करने से आपके दांतों को नुकसान हो सकता है। इसमें मौजूद एसिड दांतों की संवेदनशीलता को बढ़ा सकता है। अगर आप सेब के सिरके का प्रयोग करते हैं तो तुरन्त पानी से अच्छी तरह कुल्ला कर लें।
  • सेब के सिरके का अत्यधिक प्रयोग हड्डियों में मौजूद मिनरल (bone mineral density) को भी कम कर देता है। जिसके कारण हड्डियों से जुड़े कई रोग हो सकते हैं।

अत: आपको यह सलाह दी जाती है कि इसका प्रयोग सोच—समझ कर करें। यह हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद तो है मगर अत्यधिक प्रयोग करने से आपको नुकसान भी हो सकता है अत: इसके प्रयोग से पहले आप डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं।

Leave a Comment

Copy link
Powered by Social Snap