सफेद दाग में परहेज -Safed Daag me Parhej

Safed Daag me Parhej  – सफेद दाग ऐसी बिमारी है जो किसी की भी खूबसूरती में दाग लगा सकती है। इस रोग से सबसे ज्यादा परेशानी महिलाओं को उठानी पड़ती है।

शायद इसलिए इसके उपचार के बारे में सबसे ज्यादा महिलायें ही खोज—बीन करती हैं।

इस रोग में शरीर के विभिन्न हिस्सों की त्वचा पर सफेद दाग उभरने लगते हैं। इसका कारण है त्वचा में रंग बनाने वाली कोशिकाओं का खत्म होना। 

इन रंग बनाने वाली कोशिकाओं को मेलेनोसाइट्स कहते हैं।

अगर आपके शरीर में सफेद दाग अधिक मात्रा में होने लगे तो इसके लिए आपको तुरन्त डॉक्टर के पास चले जाना चाहिए। इस बिमारी के इलाज के अलावा आप अपने खान—पान में बदलाव कर इससे छुटकारा पा सकते हैं।

आगे इस लेख में हम आपको सफेद दाग होने की स्थिति में क्या उपाय करने चाहिए इस बारे में बताने जा रहे हैं। जिससे आप इस बिमारी से छुटकारा पा सकें।

सफेद दाग में परहेज-Safed Daag me Parhej

बनावटी या आर्टिफिशियल रंग वाले पदार्थ न खाएं

आजकल भोजन को आकर्षक बनाने के लिए बनावटी रंगों का प्रयोग अधिक मात्रा में होता है। जो हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकते हैं।

खाद्य पदार्थो में प्रयुक्त इन रासायनिक रंगों  के कारण आपको त्वचा में सफेद दाग होने का खतरा बना रहता है।

अगर आपको सफेद दाग की समस्या हो रही हो तो इसके इलाज के लिए इस प्रकार के खाद्य पदार्थो से दूर रहना चाहिए व इनका सेवन ​नहीं करना चाहिए।

अभी तक इसका कोई प्रमाण नहीं है कि इस प्रकार के रंगीन पदार्थो से सफेद दाग होने का खतरा होता है मगर कई मामलों में यह पाया गया है कि जिन रोगियों में सफेद दाग की समस्या भी और उन्होंने इन प्रकार के भोजन का प्रयोग किया है उनमें यह रोग बढ़ा है।

ऐसी स्थिति में आपको इस प्रकार रासायनिक रंगों वाले भोज्य पदार्थो से दूर रहना चाहिए।

मसालेदार भोजन का न करें प्रयोग

अगर आपको सफेद दाग की समस्या हो रही है तो आपको तेज मसाले वाले भोजन से दूर रहना चाहिए इससे आपकी यह समस्या ज्यादा तेजी से बढ़ सकती है।

इसके साथ ही आपको हल्दी का प्रयोग भी नहीं करना चाहिए क्योंकि यह आपके इस रोग की तीव्रता को बढ़ा सकती है।

हाइड्रोक्विनोन वाले फलों को न खाएं

हाइड्रोक्विनोन (Hydroquinone) एक प्रकार का रासायनिक तत्व है जो अक्सर त्वचा की क्रीम में प्रयोग किया जाता है। इसके प्रयोग से त्वचा के रंग के बिगड़ने का खतरा रहता है।

अगर आपको सफेद दाग की समस्या हो तो आपको इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए।

कुछ प्रकार के फलों में इसकी मात्रा पाई जाती है जैसे ब्लूबेरी व नाशपाती। अत: आपको इस रोग में इन फलों का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

मांस न खाएं

अगर आपको सफेद दाग की समस्या है तो आपको मांसाहारी आहार का प्रयोग नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसमें अधिक मात्रा में कैलोरी होती है।

जांच में पाया गया है कि मांस और मछली खाने से हमारे शरीर में कुछ प्रकार के तत्व चले जाते हैं तो इन दागों को बढ़ाने का काम करते हैं।

अत: ऐसी स्थिति में आपको सफेद दागों के उपचार के दौरान मांसाहार से दूर रहना चाहिए।

शराब व तंबाकु का प्रयोग न करे

अगर आपको सफेद दागों की समस्या है तो आपको शराब एवं तम्बाकु युक्त पदार्थो का सेवन नहीं करना चाहिए ऐसा करने से आपके रोग के बढ़ने का खतरा रहता है।

सफेद दाग में अन्य आहार जो न खाएं

सफेद दाग मिटाने के लिए आपको बनाये गये उपरोक्त पदार्थो का सेवन ही काफी नहीं है इसके लिए अन्य पदार्थ भी है जो आपके इस रोग को बढ़ा सकते हैं अत: इस रोग के उपचार के दौरान आपको निम्न खाद्य पदार्थो का प्रयोग नहीं करना चाहिए —

अमरूद, बेर, तरबूज, पपीता, अनार, लहसुन, खरबूजा, छाछ, कैफीन वाले पदार्थ, सोडा, मसालेदार खाना व अचार, शराब, चॉकलेट, बैंगन, हरी मिर्च, प्याज,  खट्टे फल आदि।

Leave a Comment

close
Copy link
Powered by Social Snap