Rambutan ke fayde aur nuksan — रामबुतान के फायदे और नुकसान

रामबुतान एक स्वादिष्ट और गुणकारी फल है और यह दक्षिण-पूर्व एशिया में बहुतायत में पाया जाता है। दिखने में यह सामान्य होता है लेकिन इसमें कई गंभीर बीमारियों से बचाव करने के गुण पाये जाते हैं। हम इस लेख में आपको रामबुतान खाने के फायदों के साथ ही इसके  औषधीय गुणों के बारे में भी बतायेंगे। Rambutan Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

Table of Contents

रामबुतान क्या है? – What is Rambutan in Hindi?

रामबुतान एक मध्यम आकार का उष्णकटिबंधीय फल है जो सैपिनडेसिया (Sapindaceae) परिवार के अंतर्गत आता है। इसका वैज्ञानिक नाम नेफेलियम लैपेसियम (Nephelium Lappaceum) है । इसकी कई प्रजातियां पाई जाती है जो लगभग 1,500 से 2,000 के बीच हो सकती हैं। इस फल का आकार अंडाकार होता है। रामबुतान के फल का रंग अलग—अलग हो सकता है जैसे- गुलाबी से लाल, चमकीला लाल से मरून, पीले से लाल और पीला से नारंगी। रामबुतान लीची और लोंगान जैसा होता है।  इस फल की बाहरी परत पर बाल जैसे रेशे पाये जाते हैं। इसको कई और नामों से भी जाना जाता है जो निम्न है —

  • रामबोटन (Rambotan)
  • रामबाउटन (Ramboutan)
  • रामबुस्तान (Rambustan)

रामबुतान के औषधीय गुण — Medicinal properties of Rambutan

रामबुतान फल को एक औषधीय गुणों से युक्त फल माना जाता है जो चिकित्सकीय उपचार के लिए भी उपयोग किया जाता है। क्योंकि एक वैज्ञानिक शोध में यह देखा गया है कि रामबुतान फल में फाइटोकेमिकल्स (पौधों में पाया जाने वाला एक सक्रिय यौगिक) पाया जाता हैं। जिस कारण से इसमें एंटी-कैंसर, एंटी-एलर्जिक, एंटीडायबिटिक, एंटी-एचआईवी, एंटीमाइक्रोबियल अर्थात सूक्ष्मजीवों को पनपने से रोकने वाले गुण के साथ ही एंटी-डेंगू जैसे प्रभावी गुण पाये जाते हैं।  उपरोक्त सभी गुण शरीर को गंभीर बीमारियों से बचाने में मदद करते है।

रामबुतान के फायदे – Benefits of Rambutan in Hindi

रामबुतान कई औषधीय गुणों से युक्त होता है जिसे खाने के फायदे कई सारे फायदे हैं। आपको यह बात पता होनी चाहिए कि रामबुतान आपको बीमारियों से बचाने में मदद कर सकता है या फिर बिमारी के क्षणों को कम कर सकता है यहब बिमारी को पूरी तरह से ठीक नहीं कर सकता है। आगे के लेख में आपके लिए रामबुतान किस प्रकार फायदेतमंद हो सकता है इसको जानते हैं।

Rambutan ke fayde aur nuksan

  • रामबुतान फल का प्रयोग आप मधुमेह की समस्या से बचाव के लिए कर सकता है। इसका प्रयोग वर्षो से मधुमेह के उपचार में किया जाता रहा है। एक शोध से पता चला है कि  रामबुतान फल एंटी डायबिटिक गुण होते हैं जो टाइप 2 डायबिटीज के लक्षणों को  या फिर कहें यह मधुमेह के खतरे को कम करने में मदद कर सकता है। अत: आप डायबिटीज के उपचार के दौरान अपनी डाइट में रामबुतान फल को भी शामिल कर सकते हैं।
  • हड्डियों को स्वस्थ और मजबूत रखने के लिए आप रामबुतान के फल का प्रयोग कर सकते हैं। National Center for Biotechnology Information की साइट पर एक रिसर्च प्रकाशित है जिसमें ऑस्टियोपोरोसिस से बचाव अर्थात हड्डियों के कमजोर होने के रोग के लिए रामबुतान के छिलके के फायदों को बताया गया है। क्योेंकि रामबुतान के छिलके के अर्क में प्रचुर मात्रा में फेनोलिक नामक कंपाउंड पाया जाता है, जो हड्डियों की मजबूती के लिए फायदेमंद हो सकता है। इसका सेवन से हड्डियों की स्थिति में सुधार लाया जा सकता है। इसके अतिरिक्त इसमें एंटी-ऑस्टियोपोरोसिस गुण भी मौजूद होता है जो ऑस्टियोपोरोसिस के जोखिम को कम करने में भी मदद करता है।
  • आप अपनी पाचन शक्ति को बढ़ाने के लिए रामबुतान का प्रयोग कर सकते हैं। एक रिसर्च में इस बात का पता चला है कि रामबुतान फल का उपयोग पाचन में वृद्धि के लिए उपयोग किया जाता रहा है। अत: इस आधार पर हम कह सकते हैं कि रामबुतान के फल का सेवन आपकी पाचन क्रिया में सुधार करने में सहायक हो सकता है।
  • हृदय स्वस्थ के लिए भी रामबुतान फल के फायदे देखे जा सकते हैं। एक शोध से पता चला हैसे जुड़ी बिमारियों से बचाव करने में मददगार साबित हो सकता है। इस आधार पर हम यह कह सकते हैं कि रामबुतान का सेवन हृदय स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हो सकता है।
  • रामबुतान में एंटी-कैंसर गुण पाए जाते हैं। इसमें पाये जाने वाले एंटी—कैंसर गुण शरीर में कैंसर की कोशिकाओं को पनपने से रोक देता है जिससे कैंसर से बचाव में मदद मिलती है। मगर यह ध्यान रहे कि यह कैंसर जैसी घातक बिमारी का पूर्ण उपचार नहीं है आपकेा इसके सम्पूर्ण उपचार के लिए किसी अच्छे डॉक्टर से अपना उपचार करना चाहिए। इसके साथ ही आप रामबुतान का भी प्रयोग कर सकते हैं।
  • यदि आप वजन के बढ़ने से परेशान है तेा आपको वजन घटाने में रामबुतान फल मदद कर सकता है। एक वैज्ञानिक शोध में पता चला है कि रामबुतान के छिलके के अर्क में पॉलीफेनोल (Polyphenol) पाया जाता है जो एंटी-ओबेसिटी एजेंट की तरह कार्य करता हैं। इसका यह गुण शरीर के बढ़ते वजन को कम करने में मदद करता है। वहीं इसके फल में कम कैलोरी और हाई फाइबर के साथ ही अधिक मात्रा में पानी जाता है जो वजन को संतुलित रखने में मदद करता है।
  • प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए भी आप रामबुतान का प्रयेाग कर सकते हैं। क्योंकि रामबुतान में प्रतिरक्षा प्रणाली में सुधार करने वाले गुण पाये जाते हैं। इसके अतिरिक्त इसमें विटामिन-ए की प्रचूर मात्रा पाई जाती है जो शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है।
  • यदि आप अपने शुक्राणुओं की गुणवत्ता को बढ़ाना चाहते हैं तो आपको रामबुतान का सेवन करना चाहिए। एक वैज्ञानिक शोध से पता चला है कि रामबुतान यौन स्वास्थ्य में सुधार करने के साथ ही यह शुक्राणु की गुणवत्ता में सुधार कर सकता है। परन्तु अभी इसके बारे में बहुत अधिक जानकारी नहीं है। यह माना जाता है कि इसमे पाया जाने वाला विटामिन सी इसके लिए जिम्मेदार है।
  • रामबुतान बालों के साथ-साथ त्वचा के लिए भी बहुत अधिक फायदेमंद होता है। रामबुतान की पत्तियों का उपयोग बालों की देखभाल के लिए किया जाता रहा है। इसका उपयोग कई हेयर क्लींजिंग शैम्पू में होता है जो बालों की गुणवत्ता में सुधार कर सकते है। त्वचा की चमक को ऐसा ही बनाये रखने में रामबुतान मददगार साबित हो सकता है। इसके अतिरिक्त रामबुतान के छिलके का अर्क सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाने में मदद करता हैं इसके अतिरिक्त इसका उपयोग त्वचा को स्वस्थ रखने में भी किया जा सकता है।

रामबुतान का उपयोग – How to Use Rambutan in Hindi

रामबुतान फल के सही फायदों के लिए इसका उपयोग किस प्रकार किया जाना चाहिए इसका भी ज्ञान होना आवश्यक है। इसके उपयोग के तरीकों को नीचे दिया गया है।

रामबुतान फल के जूस का सेवन कर सकते हैं।

रामबुतान को फ्रूट सलाद में खा सकते हैं।

इसके फल को सीधे तौर पर भी खा सकते हैं।

रामबुतान को विभिन्न व्यंजनों में प्रयोग किया जा सकता है।

रामबुतान के नुकसान – Side Effects of Rambutan in Hindi

  • रामबुतान फल के सीधे तौर पर नुकसानों के बारे में जानकारी नहीं है। ऐसी अवस्था में आपको हम कुछ सावधानियां बताने जा रहे हैं। जो इसमें पाये जाने वाले तत्वों के आधार पर हैं।
  • रामबुतान विटामिन सी युक्त फल है। इसके (विटामिन सी) अधिक सेवन से आपका पेट खराब हो सकता है।
  • रामबुतान में पोटेशियम प्रचूर मात्रा में होता है अत: अधिक मात्रा में इसके प्रयोग से उल्टी व डायरिया हो सकता है।
  • रामबुतान के छिलके से निकले हुए अर्क का अधिक सेवन करने से शरीर में विषाक्ता पदार्थों का स्तर बढ़ सकता है जिससे आपको नुकसान हो सकता है।
  • अगर आपको इसमें पाये जाने वाले तत्वों से एजर्ली हो तो आपकेा इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको यह लेख अच्छा लगा होगा और आपको रामबुतान फल के बारे में अच्छी जानकारी मिल गई होगी। अब आप इसका प्रयोग आसानी से कर सकते हैं। इसको आप आसानी से बाजार या फिर मॉल से प्राप्त कर सकते हैं। इसको आपने भोजन में शामिल कर आप इसके बहुत से फायदों का लाभ उठा सकते हैं। मगर आपको इसका उपयोग एक निश्चित मात्रा में ही करना चाहिए जिससे आप इससे होने वाले नुकसान से बच सके। अगर आपको ह लेख अच्छा लगा तो इसको अपने दोस्तों के साथ अवश्य ही शेयर करें।

Leave a Comment

close
Copy link
Powered by Social Snap