Panchsakar Churna in Hindi- पंचसकार चूर्ण के फायदे और नुकसान

यदि आप पंचसकार चूर्ण (Panchsakar Churna) के बारे में जानना चाहते हैं तो आप बिल्कुल सही जगह पर आये हैं। हम इस लेख में Panchsakar Churna के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहे हैं कि यह क्या है, कैसे काम करता है, हमारे स्वास्थ्य के लिए यह कैसे फायदेमंद होता है और इसकी खुराग क्या है के अलावा हम इससे होने वाले नुकसानों के बारे भी जानेंगे तो आइये शुरू करते हैं इस लेख को — panchsakar churna in hindi

Table of Contents

पंचसकार चूर्ण क्या है — What is Panchaskar Churna?

पंचसकार चूर्ण पांच प्रकार के यौगिकों से निर्मित एक दवा है जो पेट के लिए बहुत ही फायदेमंद मानी जाती है। पंचसकार चूर्ण पेट एवं पाचन तंत्र से जुड़े हर प्रकार के रोगों जैसे— गैस, अपच, कब्ज, पेट दर्द, गुदा द्वार में दर्द,  मलबद्धता, पेचिश, उल्टी, सिर दर्द, बवासीर, कृमि संक्रमण, एसिडिटी आदि के लिए प्रयोग किया जाता है। इसके अतिरिक्त यह चूर्ण पेट में बनने वाले विषाक्त पदार्थो को नियंत्रित करने एवं यकृत पित्त के स्राव को बढ़ाने में मदद करता है। जिससे पाचन क्रिया सही प्रकार से चलती है। 

जिस प्रकार से पंचसकार चूर्ण को बनाया जाता है वह हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी हो सकता है। ऐसा माना जाता है कि यदि आपका पेट ठीक नहीं है तो आपको कई और बिमारियां होने का खतरा अधिक रहता है। ऐसे में पंचसकार चूर्ण आपकी सेहत को पुन: सही करने में मददगार साबित हो सकता है।

  • दवा का  नाम-Panchsakar Churna
  • संरचना (Composition)-अदरक + हरीतकी + सनाय + सेंधा नमक + सौंफ
  • दवा-प्रकार-आयुर्वेदिक
  • उपयोग-बदहजमी, कब्ज, सिरदर्द, पेट दर्द, सूजन, आदि
  • ख़ुराक (Dosage)-डॉक्टर के अनुसार

पंचसकार चूर्ण कैसे काम करती है — How does Panchaskar Churna work?

  • अदरक में पाये जाने वाले तत्व विरेचक और कृमिनाशक होते हैं इसके साथ ही यह पेट दर्द, अपच, संक्रमण, सूजन, बवासीर, सिरदर्द, रक्ताल्पता, गठिया,एवं खांसी जैसी बिमारियों के लिए फायदेमंद होता है। अदरक में पाये जाने वाले कामोद्दीपक, क्षुधावर्धक गुण भी पाये जाते है जिससे यौन तंदुरुस्ती के साथ ही यह भूख बढ़ाने में भी मदद करता है। यह आपकी पाचन शक्ति को बढ़ाने का भी काम करता है।
  • हरीतकी में पाये जाने वाले तत्व पाचन तंत्र को मजबूत करने के साथ ही पाचन क्रियाओं को ठीक करता है जिससे यह बवासीर की बिमारी से बचाने में मदद करता हे। इसको यदि आप गर्म पानी के साथ रात को ​पीते हैं तो यह आपके मल को मुलामय और गीला करने में मदद करता है जिससे आपकेा मल त्यागने में कोई परेशानी नहीं होती है। हरीतकी में पाये जाने वाले तत्व पेट में पाचक रसों की पूर्ती करने में मदद करता है जिससे भोजन सही प्रकार से पचता है शरीर को भोजन के सभी पौषक तत्व सही मात्रा में मिल पाते हैं।
  • सनाय एक प्रकार की लैक्सेटिव जड़ी-बूटी है, जो आपको मल त्यागने में होने वाली परेशानी से निजात दिलाने में मदद करती है। यह आंतों की गतिशीलता को बढ़ाने का काम करती है जिससे आप सही प्रकार से मल त्याग कर पाते हैं। यह कब्ज के रोग के दौरान होने वाली परेशानी में पेट को साफ करने में मदद करती है। सनाय पेट में होने वाले संक्रमण से भी बचाने में मदद कर सकती है।
  • सौंफ वैसे तो कई प्रकार के रोगों में काम आता है यहां यह पेट को साफ करने का कार्य करता है। इसके अलावा यह पेट की गैस में आने वाली बदबु को भी मिटाने का काम करता है। सौंफ में एसिडिटी और बैक्टीरिया को खत्म करने के गुण  पाये जाते हैं जो हमारे लिए बहुत ही लाभकारी होते हैं।
  • सेंधा नमक का प्रयोग उपवास के दौरान अक्सर किया जाता है क्या आप जानते हैं सेंधा नमक  मानसिक तनाव में भी फायदेमंद होता है। यह मानसिक तनाव से होने वाले नुकसान को कम करता है और आपकी पाचन तंत्र को मजबूत करने में भी मदद कर सकता है।

पंचसकार चूर्ण के फायदे – Panchsakar Churna Benefits in Hindi

पंचसकार चूर्ण के निम्न बिमारियों में प्रयोग करने से लाभ होता है जो निम्न हैं —

  • कब्ज
  • बदहजमी
  • पेट दर्द
  • सिरदर्द
  • एसिडिटी
  • मल अवरोध
  • पेचिश
  • सूजन
  • बवासीर

पंचसकार चूर्ण के नुकसान – Panchsakar Churna Side Effects

किसी भी दवा के कई लाभों के साथ ही उसके कुछ नुकसान भी होते हैं  उसकी प्रकार पंचसकार चूर्ण के भी कुछ नुकसान हो सकते हैं। वैसे तो इसके कोई साइड इफेक्ट्स नहीं होते हैं मगर यदि आप इसकी अधिक मात्रा का प्रयोग करते हैं तो यह अपको नुकसान पहुंचा सकती है। हर ​व्यक्ति में इसके अलग—अलग लक्षण हो सकते हैं। यदि आपको नीचे दिये गये लक्षणों में कोई लक्षण दवा खाने के बाद दिखाई दे तो तुरन्त डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

  • उल्टी
  • निर्जलीकरण
  • पेट में जलन
  • त्वचा में खुली और चकत्ते निकलना

पंचसकार चूर्ण (Panchsakar Churna) कहां से प्राप्त करें —

पंचसकार चूर्ण को आप किसी भी दवा की दुकान से आसानी से प्राप्त कर सकते हैं या फिर आप इसको आनलाईन amazon or flipkart से भी खरीद सकते हैं। पंचसकार चूर्ण कई प्रकार की    कंपनी व ब्रांड के नाम से आपको मिलती है जो निम्न हैं —

  • Baidyanath Panchsakar Churna
  • Dabur Panchsakar Churna
  • Vyas Panchsakar Churna
  • Shriganga Panchsakar churna

पंचसकार चूर्ण की खुराक – Panchsakar Churna Dosage

  • पंचसकार चूर्ण की मात्रा रोग के प्रकार एवं रोगी की शारीरिक अवस्था के अनुसार अलग—अलग हो सकती है अत: इसकी खुराक के बारे में आपको डॉक्टर या फिर किसी विशेषज्ञ से जरूर पूछ लेना चाहिए।
  • एक आम वयस्क पुरूष पंचसकार चूर्ण की 2 से 5 ग्राम चूर्ण प्रतिदिन रात को सोने से पहले गुनगुने पानी के साथ ले सकता है।
  • यदि पंचसकार चूर्ण का अधिक लाभ लेना हो तो आपको इसको गर्म दूध के साथ लेना चाहिए।
  • जितनी मात्रा डॉक्टर द्वारा बताई गई है उतनी ही मात्रा का प्रयोग करें उसका कम या ज्यादा न करें।
  • बच्चें को पंचसकार चूर्ण की खुराक कम मात्रा में दी जा सकती है मगर बच्चों को देने से पहले डॉक्टर या किसी बाल विशेषज्ञ से अवश्य सम्पर्क करें।
  • यदि आपकी खुराक छूट कई है तो जितना जल्दी हो खुराग ले लें । यदि अगली खुराक के निकल पहुंच गये हो तो इसको न लें जिससे यह ओवर डोज न हो।

Leave a Comment

close
Copy link
Powered by Social Snap