Kaju Khane Ke Fayde | काजू खाने के फायदे और नुकसान

काजू खाने के फायदे और नुकसान — यदि आप ड्राई फ्रूट्स की बात करते हैं और उसमें काजू के बारे में बात न करें ऐसा शायद हो नहीं सकता। भारत में काजू का प्रयोग स्थान के हिसाब से बदलता रहता है। कहीं इसका प्रयोग मसाले वाले भोजन में, कहीं मिठाईयों में किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि इससे खाने का स्वाद बढ़ जाता है। जिस भी खाने में या मिठाई में काजू का प्रयोग होता है उसे शाही भोजन माना जाता है। काजू सिर्फ भोजन का स्वाद ही नहीं बढ़ता बल्कि हमारी कई बिमारी से लड़ने में मदद भी करता है।

हम इस लेख में Kaju Khane Ke Fayde के बारे में बात करें जो हमारे शरीर के स्वास्थ्य के लिए जरूरी हैं। तो आइये शुरू करते हैं इस लेख को — Cashew Benefits in Hindi, Cashew Nuts Benefits and Side Effects, काजू के फायदे, काजू से होने वाले नुकसान

Table of Contents

काजू खाने के फायदे-Kaju Khane Ke Fayde– Benefits of Cashew in Hindi

काजू में पाये जाने वाले प्रोटीन एवं फैट हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। यह एनर्जी से भरपूर ड्राइ फूड है। यदि आपका बच्चे की अच्छी ग्रोथ करना चाहते हैं या फिर आप कोई खिलाड़ी हैं तो यह आपके लिए प्रोटीन का एक अच्छा श्रोत हो सकता है।

इसके लिए आपके बच्चे और आपके लिए यह एनर्जी का एक अच्छा श्रोत हो सकता है। यह खाने में जितना अधिक स्वादिष्ट होता है उतना ही हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद भी होता है। आगे लेख में हम इससे होने वाले फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं —

1. वजन कम करने में काजू के फायदे

यदि आप वजन कम करना चाहते हैं तो आपके लिए काजू फायदेमंद हो सकात है। काजू में मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो फैट और कार्बोहाइड्रेट के मेटाबॉलिज्म अर्थात चयापचय (भोजन को एनर्जी  में बदलने की क्रिया) को बढ़ाने में मदद करता है। इसके अतिरिक्त काजू में फाइबर की भी अच्छी मात्रा पाई जाती है जो बढ़ते वजन को नियंत्रित करने में सहायक होती है। क्योंकि फाइबर के सेवन से कैलौरी की जरूर कम हो जाती है जिससे आप अतिरिक्त भोजन नहीं करते हैं।

काजू में फैट और प्रोटीन प्रचूर मात्रा में पाया जाता है जिससे आपको पेट अधिक समय तक भरा ही रहता है और आप अतिरिक्त भोजन नहीं करते है जिससे आपका वजन नियंत्रित रह सकता है। यदि आप अपने बढ़ते वजन से परेशान हैं तो आपने अपनी डायट में काजू को शामिल अवश्य ही करना चाहिए।

2. हृदय के लिए काजू के लाभ —

नट्स हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं उसी प्रकार काजू भी एक नट्स है और यह हमारे हृदय के स्वास्थ्य को बेहतर बनाये रखने में मदद करता है। इसमें पाये जाने वाले बायोएक्टिव मैक्रोन्यूट्रिएंट्स हृदय के स्वस्थ को सही करखने में मदद करते हैं।

3. हड्डियों के लिए काजू के फायदे —

काजू में कई पौष्टिक तत्वों के साथ ही कैल्शियम और मैग्नीशियम प्रचूर मात्रा में पाया जाता है जो हमारी हड्डियों के विकास के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। इसके साथ ही यह हड्डियों को मजबूती भी प्रदान करते हैं। यदि आपको ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis) की तरह ही कोई रोग है तो काजू में पाया जाने वाला मैग्नीशियम इसके उपचार में आपकी मदद कर सकता है। ऑस्टियोपोरोसिस के कारण शरीर की हड्डियां कमजोर होकर टूटने लगती हैं। यदि आप इस बिमारी से छुटकारा पाना चाहते हैं तो आपको काजू का प्रयोग करना चाहिए।

4. कैंसर के उपचार में काजू के फायदे —

यदि आप कैंसर की बीमारी से परेशान हैं तो काजू आपके लिए मददगार हो सकता है। क्योंकि काजू के अर्क में पाया जाने वाला एनाकार्डिक एसिड कैंसर मेटास्टेसिस (अर्थात शरीर में कैंसर फैलने की क्रिया) को रोकने में सहायक हो  सकता है। काजू आपको सिर्फ कैंसर होने बचाने में मदद कर सकता है यह कोई उपचार नहीं है। अत: यदि आपको या आपके ​किसी रिस्तेश्दार या दोस्त को कैंसर है तो उन्हें सबसे पहेल किसी अच्छे डॉक्टर से उपचार करना चाहिए। यदि डॉक्टर आज्ञा दें तो आप कैंसर के उपचार में सहायता के लिए काजू का प्रयोग कर सकते हैं।

5. पाचन तंत्र के लिए काजू के फायदे —

काजू में पाया जाने वाले उच्च फाइबर आपके पाचन-तंत्र को मजबूत करने में मदद करता है। फाइबर पाचन तंत्र को तो ठीक करता ही है साथ ही यह गैस, कब्ज और अल्सर जैसी बिमारियों से भी छुटकारा दिलाता है। पर ध्यान रहे अधिक मात्रा में यदि आप काजू का सेवन करते हैं तो यह आपको कब्ज और गैस की समस्या दे सकता है। अत: आपको काजू का प्रयोग कम मात्रा में करना चाहिए।

6. डायबिटीज के लिए काजू को लाभ —

काजू में पाये जाने वाले पोषक तत्व डायबिटीज की बिमारी के उपचार में सहायक होते हैं। क्योंकि काजू में उच्च मात्रा में मैग्नीशियम पाया जाता है जिसे डायबिटीक फ्रेंड कहा जाता है। मैग्नीशियम खून में  पाये जाने वाले ग्लूकोज को नियंत्रित करने में मदद करता है। यदि खून में पाया जाने वाला अतिरिक्त ग्लूकोज नियंत्रित होता है तो आपकी डायबिटीज की बिमारी कंट्रोल में रहती है।

7. गर्भावस्था में काजू के लाभ —

महिलाओं की गर्भावस्था में काजू के फायदे हो सकते हैं। काजू में पाये जाने वाले पोषक तत्व गर्भावस्था में लेने से महिलाओं के फायदेमंद हो सकते हैं। क्योंकि इसमें कैल्शियम और मैग्नीशियम की उच्च मात्रा पाई जाती है जो गर्भवती महिला के स्वास्थ के साथ अलावा भ्रूण की हड्डियों के लिए भी बहुत जरूरी होते हैं। इसमें पाया जाने वाला मैग्नीशियम गर्भवती महिला के रक्तचाप को नियंत्रित रखने के साथ ही जन्म के दौरन बच्चे के वजन को कम होने से बचाता है।

8. त्वचा के लिए काजू के फायदे —

काजू में पाये जाने वाला उच्च प्रोटीन और विटामिन-ई की तरह के एंटीऑक्सीडेंट पाये जाते हैं। जो आपकी त्वचा को स्वस्थ्य बनाने के साथ ही उसे सुन्दर और मुलायम करने में सहायता करते हैं। इसके प्रयोग से आपकी बढ़ती उम्र से त्वचा में होने वाले असर को कम किया जा सकता है। काजू सूर्य की हानिकारक किरणों से त्वचा को होने वाले नुकसान से बचाने में मदद करता है।

9. काजू के एंटीऑक्सीडेंट के फायदे —

काजू में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट गुण हमारे शरीर के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही जरूरी होते हैं।  एंटीऑक्सीडेंट हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही जरूरी होते हैं। क्योंकि कैंसर की कोशिकाओं से बचाव के लिए इसको बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। यह आपके सम्पूर्ण शरीर के साथ ही आपके हृदय को भी स्वस्थ्य रखने में मदद करता है।

10. बालों के लिए काजू के फायदे —

काजू में पाये जाने वाले पोषक तत्व जैसे — मैग्नीशियम, आयरन, जिंक, और फास्फोरस हमारे बालों के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही जरूरी होते हैं। ये सभी पोषक तत्व हमारे बालों केा पोषण के साथ ही आपके बालों को चमकदार और मजबूत बनाते हैं।

काजू के पौष्टिक घटक – Cashews Nutritional Value

हम आगे काजू में पाये जाने वाले पौष्टिक तत्वों के बारे में बताने जा रहे हैं —

  • कार्बोहाइड्रेट
  • वसा       
  • प्रोटीन   
  • शुगर      
  • फाइबर  
  • विटामिन सी
  • विटामिन ए         
  • विटामिन ई          
  • विटामिन  बी 6    
  • विटामिन  के       
  • नियासिन             
  • राइबोफ्लेविन      
  • थियामिन            
  • सोडियम               
  • पोटैशियम           
  • मिनरल
  • कैल्शियम            
  • आयरन 
  • मैग्नीशियम        
  • फास्फोरस
  • जिंक     
  • लिपिड
  • फैटी एसिड आदि।

काजू के उपयोग – How to Use Cashew in Hindi

काजू में पाये जाने वाले पोषक तत्व हमारे स्वास्थ्य के लि बहुत ही अच्छे माने जाते हैं। इसका उपयोग कैसे करें इसको नीचे बताने जा रहे हैं —

  • आप काजू को आप जब चहे किसी भी रूप में खा सकते हैं।
  • आप इसको स्नैक्स के रूप में भी प्रयोग कर सकते हैं। इकसे लिए आपको काजू और बादाम को एक साथ भूनकर खाना चाहिए।
  • आप काजू कतली जैसी स्वादिष्ट मिठाइ का उपयोग कर सकते हैं।
  • आप काजू का प्रयोग खीर और हलवे को सजाने के लिए प्रयोग कर सकते हैं।

काजू को खाने में रखी जाने वाली सावधानी — Precautions to be taken in eating Cashew nuts

  • जिस प्रकार आपके स्वास्थ्य के लिए काजू फायदेमंद हो सकात है मगर किसी को यह नुकसान भी पहुंचा सकता है। आपको इससे एलर्जी हो सकती है जिससे बांकी की तबियत बिगड़ गई है।
  • यदि आप काजू का प्रयोग कर रहे हैं। तो इसके प्रयोग से पहले आपको काजू में पाये जाने वाले तत्वों से एलर्जी के बारे में पता करना चाहिए क्योंकि कुछ लोगों को काजू के सेवन से एलर्जी होती है और इससे आपको नुकसान हो सका है।
  • यदि आप इसका अधिक सेवन करते हैं तो काजू में पाया जाने वाले उच्च फाइबर आपके पेट को खराब कर सकता है।

काजू से होने वाले नुकसान – Side Effects of Cashew Nuts in Hindi

वैसे तो काजू किसी भी प्रकार से नुकसान नहीं पहुंचाता है पर इसके अधिक मात्रा में सेवन करने से आपको बहुत अधिक नुकसान हुआ होगा। यदि आप काजू का सीमित मात्रा में प्रयोग करते हैं तो यह आपके लिए फायदेमंद हो सके हैं। आपको काजू की एक निश्चित मात्रा का ही सेवन करना चाहिए।

  • काजू में सोडियम पाया जाता है यदि आप अधिक मात्रा में काजू को खाते हैं तो आपके शरीर में सोडियम की मात्रा बढ़ जाती है। जिस कारण हाई ब्लड प्रेसर, स्ट्रोक और हृदय से जुड़ी बिमारियां हो सकती हैं।
  • यदि आप काजू का अधिक मात्रा में सेवन करते हैं तो इससे आपका वजन बढ़ सकता है क्योंकि काजू में अधिक मात्रा में कैलोरी पाई जाती है जो आपके वजन को बढ़ा सकती हैं
  • काजू में उच्च मात्रा में फाइबर पाया जाता है लेकिन यदि आप काजू की अधिक मात्रा में सेवन करते हैं तो यह फाइबर आपके पेट के दस्त, सूजन और गैस पैदा कर सकते हैं।
  • काजू  में पाया जाने वाले पोटेशियम की अधिक मात्रा आपको दिल की बिमारी दे सकती है। अत्: आपको काजू की एक निश्चित मात्रा का ही सेवन करना चाहिए।

Leave a Comment

close
Copy link
Powered by Social Snap