Cyra D Tablet in Hindi | साइरा-डी टैबलेट के फायदे और नुकसान

साइरा-डी टैबलेट :

साइरा-डी टैबलेट (Cyra—D Tablet) का प्रयोग आमतौर पर उल्टी, मतली, गैस के साथ ही पेट से जुड़ी परेशानियां अन्य बिमारियां जैसे — एसिडिटी, हार्टबर्न, हैवी ब्लॉटिंग, गैस्ट्रोइसोफेगल रिफ्लक्स रोग आदि उपचार के लिए किया जाता है। इसके अलावा सायरा—डी दवा का प्रयोग  गैस्ट्रिक अल्सर, आंत के अल्सर एवं पाचन से जुड़ी समस्या में होता है। इन सबसे यह बात समझ में आती है कि Cyra—D Tablet का प्रयोग मुख्यरूप से पेट की बिमारियों के उपचार में होता है।

यदि आपको पेट से जुड़ी समस्या है तो आपके डॉक्टर आपको इस दवा को खाने को कह सकते हैं। उपरोक्त समस्याओं के अलावा भी  इस दवा का प्रयोग अन्य और बिमारियों में भी किया जाता है। हम अपने इस लेख में आपको साइरा-डी टैबलेट (Cyra—D Tablet) की पूरी जानकारी देने जा रहे हैं। आपको यह बात ध्यान अवश्य ही रखनी चाहिए कि किसी भी दवा को लेने से पहले आपको डॉक्टर या किसी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य ही लेनी चाहिए। 

साइरा-डी टैबलेट का प्रारूप :

सायरा डी टैबलेट में मुख्यरूप से रबेप्रेजॉल सोडियम और डॉमपेरिडोन के तत्व पाये जाते हैं। इनकी मात्रा को नीचे दिया गया है।

  • रबप्राजोल सोडियम -20mg
  • डॉमपेरिडोन– 30mg

साइरा-डी में मौजूद रैबेप्राजोल पेट में एसिड के बहने को रोकने में मदद करता है और वहीं डोम्परिडोन के अंदर पाये जाने वाले प्रोकोनेटिक को पेट से बाहर निकलाता है। इस प्रकार साइरा-डी टैबलेट आपके पेट को नुकसान होने से बचाने में सहायक होती है।

साइरा-डी टैब्लेट के फ़ायदे — Cyra—D Tablet Benefits in Hindi

साइरा-डी टैबलेट हमारे लिए बहुत ही लाभकारी है जिससे जुड़े फायदों को नीचे दिया गया है।

  • दिल की जलन
  • पेट में अल्सर
  • पेट में सूजन
  • पेट दर्द
  • उलटी
  • मतली
  • हर्निया
  • रेगुरगिटेशन
  • प्रेग्नेंसी में एसिडिटी
  • गैस
  • बदहजमी

साइरा-डी टैबलेट के उपयोग —

  • साइरा-डी टैबलेट आपको बाजार में कैप्सूल, टैबलेट एवं इंजेक्शन के रूप में आसानी से मिल जाती है। जिसको आप पानी के साथ ले सकते हैं।
  • इस दवा को आपको डॉक्टर की सलाह पर लेना चाहिए।
  • साइरा-डी टैबलेट को हमेशा खाना खाने से 30 मिनट पहले लें।
  • यदि आपको पेट में कोई दिक्कत है तो तुरन्त डॉक्टर से सम्पर्क करें। जांच के पश्चात डॉक्टर आपको साइरा—डी टैबलेट किसी रूप में आपकेा लेनी है इसकी जानकारी देंगे।
  • यदि आपको पेट में दिक्कत है तो आपको सायरा डी टेबलेट दिन में दो बार खाने की सलाह दी जा सकती है।
  • सायरा डी का प्रयोग गैस्ट्रोइंटस्टाइन के रोग में किया जाता है।
  • हार्टबर्न के अतिरिक्त इस का प्रयोग छाली में जलन होने अर्थात गैस की समस्या के अधिक होने पर भी किया जाता है। मगर यदि समस्या अधिक हो तो तुरन्त डॉक्टर को दिखायें।
  • जोलिंगर-एलिसन सिंड्रोम, पेट में गैस बनना, छोटी आतं में घाव होना, अल्सर में भी सायरा डी ड्रग प्रयोग किया जाता है।
  • किसी भी दवा को एक्सपायरी डेट के पश्चात न लें यह आपकेा नुकसान पहुंचा सकती है। इसलिए किसी भी दवा को लेने से पहले उसके बारे में पैकट के पीछे छपे दिशा—निर्देशों के साथ ही उसकी एक्सपायरी डेट को अवश्य ही देखें।

सायरा डी की खुराक — How to Take Cyra D Tablet

सायरा डी को आप कैप्सूल, टेबलेट और इंजेक्शन तीनों में से किसी को भी ले सकते हैं। मगर लेने से पहले आपको डॉक्टर से अवश्य ही पूछ लेना चाहिए कि आपके उपचार के लिए दवा का कौन का रूप उचित होगा। डॉक्टर रोगी की उम्र, रोग का प्रकार, रोगी के वजन के अनुसार ही दवा की मात्रा का निर्णय लेते हैं।

सामन्य तौर पर दिन में दो बार एक गोली सुबह और एक गोली शाम को खाना खाने से पहले लेने को कहा जाता है। आपको चिकित्सक के दिशा-निर्देशों के अनुसार ही सायरा डी का सेवन करना चाहिए। अगर आपकी स्थिति ज्यादा खराब हो तो आपको डॉक्टर इंजेक्शन के रूप में सायरा डी को लेने को कह सकता है। मगर ध्यान रहे इस दवा को बच्चों से दूर रखें।

साइरा-डी टैबलेट के दुष्प्रभाव: Side Effects of Cyra D Tablet in Hindi

किसी भी दवा को यदि आप सही प्रकार से नहीं लेते हैं तो वह आपको नुकसान पहुंचा सकती है। उसकी प्रकार साइरा-डी टैबलेट के भी कुछ बहुत दुष्प्रभाव हैं जो नीचे दिये गये हैं। नीचे दिये गये साइड-इफ़ेक्ट के अतिरिक्त भी यदि आपको कोई लक्षण महसुस हों तो आपकेा तुरन्त अपने डॉक्टर से सलाह करनी चाहिए यह आपके लिए खतरनाक हो सकता है।

  • क़ब्ज़
  • खुजली
  • त्वचा में लाल चकत्ते निकलना
  • अनिंद्रा
  • चक्कर आना
  • घबराहट
  • सर दर्द
  • स्तन दर्द
  • पेट में गैस
  • पेटदर्द
  • हदय में तकलीफ
  • सांस लेने में तकलीफ

साइरा-डी टैबलेट की सावधनिया —  Precautions of Cyra D Tablet in Hindi

  • यदि आप साइरा-डी टैबलेट का इस्तेमाल करना शुरू कर रहे हैं तो इससे पहले आपको डॉक्टर अपने पुराने रोगों एवं अपनी स्वास्थ्य स्थिति के साथ ही दवा से होने वाली एलर्जी के बारे में पूरी जानकारी देनी चाहिए। जिससे डॉक्टर आपको उचित सलाह दे सकें।
  • यदि आपको दिल की बीमारी है तो तो इस दवा के प्रयोग से पहले आपको अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।
  • डायबिटी के रोगी डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही इस दवा का प्रयोग करें।
  • किडनी एवं गुर्दे के रोग से पीड़ित व्यक्ति को साइरा-डी के प्रयोग से पहले अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लेनी चाहिए। 
  • गर्भवती या स्तनपान करने वाली महिलाओं को इस दवा के प्रयोग से दूर रहना चाहिए।
  • बच्चों को इस दवा के प्रयेाग से दूर रहना चाहिए।

Leave a Comment

close
Copy link
Powered by Social Snap