Cremaffin Syrup in Hindi | क्रेमाफिन सिरप के फायदे

Cremaffin Syrup in hindi — यदि आप क्रेमाफिन सिरप के बारे में जानकारी ढूंढ रहे हैं तो आप सही जगह पर आये हैं हम इस लेख में Cremaffin Syrup के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहे हैं जैसे कि क्रेमाफिन सिरप क्या है?, क्रेमाफिन सिरप के फायदे, क्रेमाफिन सिरप के उपयोग, Cremaffin Syrup  कैसे काम करती है, Benefits of Cremaffin Syrup in hindi, dose of Cremaffin Syrup, क्रेमाफिन सिरप के दुष्प्रभाव आदि। तो आइये शुरू करते हैं इस लेख को –

Table of Contents

क्रेमाफिन सिरप क्या है — What is Cremaffin Syrup in hindi

कब्ज में आराम पाने के लिए ज्यादातर क्रेमाफिन सिरप का सेवन किया जाता है। इसका सबसे अधिक उपयोग उनके द्वारा किया जाता है जिनका पाचन तंत्र कमजोर होता है और मल त्यागने में अधिक समय लगता है। इस श्रेणी में अधिकतर बजुर्ग के साथ ही कुछ युवा भी आने लगे हैं। इस दवा का निर्माण एबॉट कम्पनी द्वारा किया जताा है। क्रेमाफिन सिरप का उपयोग मल त्यागने में परेशानी होने, पेट में अम्ल, कब्ज, आंतों में पानी का बढ़ जाना, जैसी परेशानियों में राहत दिलाने के लिए किया जाता है।

क्रेमाफिन का उपयोग कब्ज से तुरन्त राहत पाने के लिए किया जाता है। यह दवा मल को मुलायम करती है जिससे इसका पास होना आसान हो जाता है। यह दवा कब्ज की परेशानी को ठीक करने के साथ ही आंत की समस्याओं को भी कम करती है। इस दवा को तुरन्त असर करने के लिए जाना जाता है। इस दवा का उपयोग युवाओं के साथ ही बुजुर्गो द्वारा किया जा सकता है। क्रेमाफिन बाजार में सिरप के रूप में उपलब्ध है। इसे आप आसानी से किसी भी मेडिकल की दुकान से आसानी से खरीद सकते हैं।

क्रेमाफिन सिरप में पाये जाने वाले तत्व — Ingredients of Cremaffin Syrup

क्रेमाफिन सिरप की प्रत्येक 15 मिलीलीटर मात्रा में 3.75 मिलीलीटर लिक्विड पैराफिन पाया जाता है और दूसरा तत्व 11.25 मिलीलीटर मैग्नेशिया मिल्क मिलाया जाता है।

वहीं दूसरी और Cremaffin प्लस सिरप में भी उपरोक्त की भांती ही सामग्री होती है लेकिन इनके बीच सिर्फ एक ही अन्तर होता है कि Cremaffin प्लस में एक अतिरिक्त घटक जो सोडियम पिको-सल्फेट है वह एक एक्टिव घटक होता है जो मल को नरम करने का काम करता है।

क्रेमाफिन सिरप के उपयोग और फायदे — Uses and Benefits of Cremaffin Syrup in hindi

क्रेमाफिन सिरप के बहुत से उपयोग है जो आपके स्वास्थ्य को सही करने में मदद कर सकते हैं जो निम्न हैं —

  • कब्ज़ में राहत
  • आंतों में पानी बढ़ जाना
  • गुदा की दर्दनाक स्थिति में सहायता करता है।
  • कोलोनोस्कोपी से पहले आंत्र को खाली एवं साफ करने के लिए
  • पेट में एसिड की मात्रा को कम करता है
  • क्रैमफीन मल को नरम कर मल त्याग को आसन करता है।
  • पेट के अल्सर में बहुत असरदार।
  • मलाशय एवं गुदा के आसपास के क्षेत्र में दर्द से राहत।
  • पेट के अल्सर को ठीक करने में सहायक।

उपरोक्ता उपयोग एवं फायदों के के अलावा भी डॉक्टर क्रेमाफिन सिरप को कई और रोगों एवं समस्याओं के समाधान के रूप में इसका उपयोग करते हैं।

क्रेमाफिन सिरप की खुराक — Usual dose of Cremaffin Syrup in hindi

Cremaffin Syrup से अधिक फायदा लेने के लिए इसको सोते समय पानी के साथ लेना चाहिए। यह ध्यान रहे कि हमेशा इसकी सही खुराक का ही सेवन करें इसके लिए एक मात्रा माप ने वाले कप का प्रयोग करें। बेहतर परिणाम पाने के लिए हमेशा सही समय पर ही दवा को लेना चाहिए। इस उवा का प्रयोग प्रात:काल भी किया जा सकता है पर यह रोगी के रोग एवं उसकी स्थिति पर निर्भर कता है। इसके लिए आपको डाक्टर की सलाह को मानना चाहिए।

दवा की मात्रा उसे लेने वाले की उम्र और उनके रोग के आधार पर निश्चित की जाती है। युवाओं और अन्य लोगों के लिए डॉक्टर द्वारा 7.5 मिलीलीटर से 15 मिलीलीटर तक की खुराक तय की जाती है और वहीं बच्चों के लिए यह मात्रा 5 मिलीलीटर से 10 मिलीलीटर तक होती है।

यदि आप कोई खुराक लेना भूल जाते हैं तो आपको इसकी छूटी खुराक का ओवर डोज नहीं लेना चाहिए बल्कि निश्चित समय से ही अगली खुराक को लेना चाहिए।

क्रेमाफिन सिरप कैसे काम करती है? : How Cremaffin Syrup works in hindi

  • Cremaffin syrup का असर लगभग 12 से 24 घंटे के अन्दर होता है लेकिन कभी—कभी विशेष परिस्थिति में इसको अधिक समय भी लग सकता है।
  • Cremaffin syrup सबसे पहले आंत्र की मांसपेशियों को उत्तेजित करता है। जिससे क्रमाकुंचन क्रिया होती है जो पेशियों की एक लहरीली गति को पैदा करती है और मल को चिकनाई और नरम कर शरीर से बाहर निकलती है।
  • Cremaffin Syrup में मैग्नीशियम हाइड्रॉक्साइड, लिक्विड पैराफिन और सोडियम पिकोसल्फेट पाये जाते है जो मल के पानी और वसा को आसानी से घुला कर बाहर निकालने में मदद करता है। जहां सोडियम पिकोसल्फेट आंत्र की मांसपेशियों को उत्तेजित करने में मदद करता है वहीं मैग्नीशियम हाइड्रॉक्साइड आंतों में पानी और नमी को बनाए रखता है जिससे मल को नरम करने में मदद मिलती है।
  • Cremaffin Syrup के प्रयोग से पेट में पैदा होने वाले एसिड को बेअसर किया जा सकता है।

क्रेमाफिन सिरप के दुष्प्रभाव — Side effects of Cremaffin Syrup in hindi

किसी भी दवा के जिनते फायदे होते हैं उसके कुछ साइड इफैक्ट भी हो सकते हैं। इसके ओवर डोज के आपको कई प्रकार की परेशानी हो सकती हैं या इसमें पाये जाने वाले तत्वों को आपको एलर्जी हो सकती है। नीचे इसके कुछ साइड इफैक्ट्स के लक्षण दिये गये हैं जिनको होने पर आपको अपने डॉक्टर से तुरन्त सम्पर्क करना चाहिए।

  • पेट में मरोड़ का होना
  • पेट दर्द
  • भूख का न लगना।
  • सिर घुमना
  • कमजोरी और थकान होना
  • शरीर में सूजन
  • त्वचा की खुजली के साथ लाल चकत्ते निकलना।
  • दस्त होना
  • उल्टी  आदि।

क्रेमाफिन सिरप के बारे में पूछ जाने वाले सवाल — FAQs about Cremaffin Syrup

क्या Cremaffin Syrup का उपयोग गर्भवती महिलायें कर सकती हैं?

इस बारे में अभी तक कोई शोध नहीं हुआ है इसकी कारण यह कहना ​बहुत कठिन है कि गर्भवती महिलायें इसका सेवन कर सकती हैं या नहीं फिर भी यदि आपको इसका प्रयोग करना है तो आपको अपनी महिला डॉक्टर से इसके बारे में अवश्य पूछना चाहिए।

क्या स्तनपान कराने वाली महिला Cremaffin Syrup का उपयोग कर सकती है?

आपको Cremaffin Syrup के प्रयोग से पहले अपने डॉक्टर से अवश्य पूछना चाहिए। क्योंकि इस बारे में अभी शोध कार्य नहीं हुआ है कि इसका बच्चे पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

Cremaffin Syrup का प्रभाव गुर्दे के रोगी पर क्या होगा?

इस बारे में कुछ भी जानकारी उपलब्ध नहीं है अत: आपको इसके उपयोग से पहले डॉक्टर से पूछना होगा।

Cremaffin Syrup का लिवर पर क्या प्रभाव होगा?

लिवर से जुड़े रोगों से ग्रसित लोगों को Cremaffin Syrup का प्रयोग बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं करना चाहिए।

ह्रदय के रोगी Cremaffin Syrup का प्रयोग कर सकते हैं?

इस बार में शोध की कमी होने के कारण आपको यह नहीं बता पायेंगे की Cremaffin हृदय के रोगियों पर क्या प्रभाव डालती है। मगर आपकेा इसके प्रयोग से पहले अपने डॉक्टर से पूछना चाहिए।

क्रेमाफिन सिरप को लेने में बर्ती जाने वाली सावधानियां — Precautions  of Cremaffin Syrup

  • यदि आपको Cremaffin syrup में प्रयोग तत्वों से एलर्जी है तो आपको इसके प्रयोग से बचना चाहिए।
  • यदि आपकी आंतों में रूकावट है तो आपको इसके प्रयोग से बचना चाहिए क्योंकि इसके प्रयोग से आपकी स्थिति अधिक खराब हो सकती है। 
  • डायरिया के बिमारी Cremaffin Syrup का प्रयोग बिल्कुल न करें। क्योंकि यह सिरप डायरिया के ​रो​गी के लिए एक रेचक अर्थात दस्त लाने वाले रूप में कार्य करता है। इससे आपकी स्थिति और अधिक खराब हो सकती है।
  • क्रेमाफिन सिरप का अधिक मात्रा में सेवन न करें इससे आपको नुकसान हो सकती है। यदि आप इसका अधिक मात्रा में सेवन करते हैं तो आपको सांस लेने में दिक्कत, पेशाब में कमी, चक्कर आना, बार—बार प्यास लगना, पेट में दर्द, उल्टी जैसी समस्या हो सकती है। ऐसा होने पर तुरन्त डॉक्टर से संपर्क करें।
  • क्रेमाफिन सिरप की Expired होने पर इसका प्रयोग न करें इससे आपको नुकसान हो सकता है।

Leave a Comment

close
Copy link
Powered by Social Snap