चिलगोजा के फायदे और नुकसान | Pine Nuts (Chilgoza) Benefits and Side Effects in Hindi

चिलगोजा के फायदे और नुकसान (Chilgoza)  — चिलगोजा को एक पाइन नट् है। यह बहुत से पोषक तत्वों से परिपूर्ण होता है परन्तु यह लोकप्रिय नेट नहीं है। भारत में चिलगोजा को नियोजा नाम से जाना जाता है। यह पाइन वृक्ष अर्थात चीड़ के पेड़ से प्राप्त होता हे। वास्तव में Chilgoza पाइन वृक्ष के बीज हैं जो खाये जा सकते हैं। बाजार में यह आसनी से मिल जाते हैं। पाइन व़ृक्षों की अलग—अलग प्रजाति पाई जाती है जिनसे अलग—अलग स्वाद, आकार एवं पोषण तत्व के पाइन नट्स प्राप्त होते हैं।

इन पाइन नट्स को ही चिलगोजा (Chilgoza) कहा जाता है। इसका उत्पादन भारत में उत्तर—पश्चिम क्षेत्र में किया जाता है। हिमालयी क्षेत्रों, उत्तराखण्ड एवं हिमाचल प्रदेश में इसकी खेती की जाती है। अगर आप पाइन नट्स अर्था चिलगोजा को खाना चाहते हैं तो आपकेा इसके बाहर के कड़क आवरण को हटाना होगा।

चिलगोजा दिखने में छोटे होते हैं और इनका स्वाद बहुत ही स्वादिष्ट होता हे। इनमें बहुत से पौष्टिक तत्व पाये जाते हैं जो हमारे लिए बहुत ही लाभदायक होते हैं। इसमें प्रोटीन एवं वसा की प्रचूर मात्रा पाई जाती है और इसमें मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड और एंटीऑक्सीडेंट प्रचूर मात्रा में पाए जाता है। इसके अतिरिक्त इसमें विटामिन बी, विटामिन सी, कॉपर, फास्फोरस, ज़िंक, कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम, आयरन और मैंगनीज पाए जाते हैं। – चिलगोजा के फायदे – Benefits of Pine Nuts in Hindi — चिलगोजा क्या हैं – What is Pine Nuts (Chilgoza) in Hindi.

Table of Contents

चिलगोजा क्या हैं – What is Chilgoza (Pine Nuts) in Hindi

चिलगोजा को पाइन नट्स भी कहा जाता है। चिलगोजा के पौष्टिक तत्व व विटामिन के कारण इसका प्रयोग आयुर्वेद एवं घरेलू उपायों में बहुत पहले से होता रहा है। चिलगोजा का वैज्ञानिक नाम ‘पाइनस गिरार्डियना’ है। यह पाइन वृक्ष अर्थात चीड़ के पेड़ से प्राप्त होता हे। वास्तव में Chilgoza पाइन वृक्ष के बीज हैं जो खाये जा सकते हैं।

इसके बारे में बहुत से कम लोग जानते हैं इसकी कारण से इसके पौष्टिक तत्व और हमारे स्वास्थ्य के लिए इसके फायदों के बारे में ज्यादा जानकारी उपलब्ध नहीं हैं। मगर हम इस लेख में आपको इससे जुड़ी पूरी जानकारी देने की कोशिश करेंगे। तो जानते हैं इसके पौष्टिक और इसके फायदों के बारे में।

चिलगोजा के पोषक तत्व – Nutritional Value of Chilgoza

पाइन नट्स में स्‍वास्‍थ्‍य के फायदेमंद बहुत से पोषक तत्व पाये जाते हैं। इसके साथ ही चिलगोजा में कैलोरी की अच्‍छी मात्रा भी होती है जो हमें अतिरिक्त ऊर्जा देने में सहायक होती है। इन सबके अलावा इसमें प्रोटीन, विटामिन, मैग्नीशियम, पोटेशियाम, कैल्शियम, आयरन, फोलेट एवं एंटीऑक्‍सीडेंट की प्रचूर मात्रा पाई जाती है। यदि आप इसका नियमित सेवन करते हैं तो यह आपको कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ पहुंचा सकते हैं।

चिलगोजा के फायदे – Benefits of Chilgoza (Pine Nuts) in Hindi

1. ह्रदय स्वास्थ्य में चिलगोजा के फायदे —

चिलगोजा आपके हृदय के लिए लाभदायक हो सकता है। चिलगोजा को नट् माना जाता है ओर नट्स हृदय से जुड़ी परेशानियों में लाभदायक होते हैं। चिलगोजा में कई प्रकार के पौष्टिक तत्व होते हैं जो हृदय से जुड़ी बिमारियों के खतरे को कम कर सकता है। इसके अतिरिक्त एक शोध में यह देखा गया है कि जो लोग इसका प्रयोग करते हैं उनमें हृदय सम्बन्धी रोगों के खतरे कम हो जाते हैं। इन सब के अतिरिक्त चिलगोजा में कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के गुण पाये जाते हैं।

2. कोलेस्ट्रॉल में चिलगोेजा के लाभ —

चिलगोजा के प्रयोग से आप अपने बढ़ते कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित कर सकते हैं। चिलगोजा में कोलेस्ट्राल की मात्रा नहीं होती है इसी कारण से आप चिलगोजा का प्रयोग कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में कर सकते हैं।

3. मधुमेह के रोग में चिलगोजा के फायदे —

यदि आपको मधुमेह की बिमारी है तो आपको अपने खाने—पीने में विशेष ध्यान देना होता है। ऐसे में आप चिलगोजा का सेवन कर सकते हैं क्योंकि इसमें पाये जाने वाले पौषक तत्व मधुमेह के खतरने को कम करने में मदद करत हैं। एक शोध के अनुसार चिलगोजा अर्थात पाइन नट्स के प्रयोग करने वाले व्यक्तियों में सीरम कोलेस्ट्रॉल का स्तर नियंत्रित देखा गया है।  चिलगोजा में पाये जाने वाला कैल्शियम, मैग्नेशिय और पोटैशियम  जो डायबिटीज को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। अत: यदि आपको मधुमेह की परेशानी है तो आप चिलगोजा का प्रयोग कर सके हैं।

4. प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में चिलगोजा के लाभ —

आज के समय में आए दिन कई प्रकार की बिमारियां आ रही हैं जो आपकी प्रतिरोधक क्षमता को कमजोर कर देती हैं। यदि आप अपनी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको चिलगोजा के प्रयोग के बारे में जरूर सोचना चाहिए क्योंकि इसमें पाये जाने वाले तत्व जैसे जिंग आपकी प्रतिरोधक क्षमता को कई गुना बढ़ा देते हैं। जिससे आप किसी भी बिमारी से आसानी से लड़ सकते हैं।

5. वजन कम करने में चिलगोजा (Chilgoza) के लाभ —

आज के समय में हर कोई अपने बढ़ते वजन से परेशान हैं। यदि आप भी अपने वजन को नियंत्रित रखना चाहते हैं तो आपके लिए चिलगोजा (Chilgoza) फायदेमंद हो सकता है। एक शोध के अनुसार इससे बने तेल का सेवन आपका वजन कम कर सकता है। क्योंकि चिलगोजा में पिनोलेनिक एसिड पाया जाता है जो 13 से 19 प्रतिशत फैटी एसिड को दर्शाता है। यह एसिड भूख को नियंत्रित करता है जिससे वजन कम करने में मदद मिलती है। balance the weight in hindi

6. हड्डियों के लिए चिलगोजा के लाभ —

यदि आप कमजोर हड्डियों से परेशान हैं तो आपके लिए हड्डियों की मजबूत करने के लिए चिलगोजा फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि चिलगोजा में फैटी एसिड पाये जाते हैं जो हड्डियों को मजबूती प्रदान करते हैं एवं उनके विकास में भी मदद करते हैं। एक शोध में देखा गया है कि इसमें पाये जाने वाला ओमेगा-6 फैटी एसिड्स एवं कैल्शियम हड्डियों स्वस्थ्य रखने के साथ ही इनको मजबूत भी करता है। इसके अलावा यह गठिया एवं जोड़ों के दर्द में भी लाभदायक होता है।

7. कैंसर में चिलगोजे के फायदे —

चिलगोजे के नियमित सेवन से आप कैंसर जैसी बिमारी के होने से बच सकते हैं। इसके लाभ कैंसर में भी देखे जा सकते हैं। एक शोध में पाया गया है कि कैंसर से बचने के लिए नट पदार्थों का सेवन करना फायदेमंद होता है और चिलगोला (पाइन नट्स) में रेस्वेराट्रोल नमक एंटीऑक्सीडेंट प्रचूर मात्रा में पाया जाता है जो कैंसर के रोग के जोखिम को बहुत कम कर देता है। इसी कारण से आप अगर चिलगोजा का नियमित सेवन करते हैं तो आप कैंसर जैसी बिमारी से बच सकते हैं। यह ध्यान दें यह कोई सम्पूर्ण इलाज नहीं है अगर आपकों कैंसर है तो आपको किसी अच्छे कैंसर स्पेशलिट को दिखाना चाहिए।

8. गर्भावस्था में चिलगोजा के लाभ —

यदि आप गर्भवती हैं तो आप चिलगोजा (Chilgoza)  का प्रयोग कर सकते हैं इसमें जिंक प्रचूर मात्रा में पाया जाता है इसके अतिरिक्त इसमें और भी बहुत सारे पोषक तत्व पाये जाते हैं जो गर्भावस्था के दौरान भ्रूण के विकास में सहायता कर सकते हैं। अत: आप गर्भावस्था के समय चिलगोजा दौरान पाइन नट्स (Chilgoza) का प्रयोग कर सकते हैं। आप दिनभर में करीब 20 से 40 नट्स तक खा सकती हैं। मगर इसके प्रयोग से पहले आप अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य करें।

9. चिलगोजा के फायदे रक्त वाहिकाओं के लिए –

पाइन नट्स में मोनो अनसैचुरेटेड वसा की अच्छी मात्रा पाई जाती हैे जो खून में मौजूद बेड कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को कम करने में मदद करता है। यदि आप चिलगोजा का नियिमत सेवन करते हैं तो आपके शरीर में गुड कोलेस्‍ट्रॉल का स्‍तर बढ़ता है। पाइन नट्स में ओलेइक एसिड पाया जाता है जो यकृत से ट्राइग्लिसाइड्स को निकलने में मदद करता है। इतना ही नहीं यह धमनी से जुड़े रोगों एवं स्‍ट्रोक को भी रोकने में सहायता करता है।

10. शुक्राणुओं को बढ़ापे में चिलगोजा के फायदे —

पुरुष की प्रजनन क्षमता का मुख्य कारण उसके शुक्राणुओं की संख्‍या एवं उसकी गुणवत्‍ता पर निर्भरत करती है। इसके लिए चिलगोजा नट्स बहुत फायदेमंद है। यदि आप कम शुक्राण या फिर बांझपन से परेशान हैं तो आपकेे लिए ​चिलगोजा फायदेमंद हो सकता है। जब पुरूष एक बार स्‍खलन करता है तो करीब 200 मिलियन शुक्राणुओं को बाहर निकालता है। यदि किसी कारण से आपके शुक्राणुओं की संख्‍या इससे कम होती है तो सम्भावना है कि गर्भाधान सही प्रकार से न हो। चिलगोजा सिर्फ शुक्राणुओं की संख्या ही नहीं बढ़ाता है बल्की शुक्राणुओं की गुणवत्ता में भी सुधार करता है। इसके लिए आपको कम से कम 2 से तीन महिने तक नियिमत चिलगोजा का सेवन करना होगा।

11. मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए चिलगोजा के लाभ —

चिलगोजा नट्स में आयरन की प्रचूर मात्रा पाई जताी है जो मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। क्योंकि आयरन ऐसा तत्व है जो ऑक्‍सीजन के भंडारण और उसके परिवहन के लिए आवश्‍यक माना जाता है। यदि मस्तिष्क में आक्सीजन की उचित मात्रा पहुंचती है तो उससे मस्तिष्‍क का स्‍वास्‍थ्‍य अच्छा रहता है। इतना ही नहीं पाइन नट्स के प्रयोग से आप अवसाद, चिंता एवं तनाव से बच सकते हैं। इसमें पाया जाने वाला मैग्नीशियम अवसाद और चिंता से मुक्ति दिलाने में मदद करता है। यदि आप अपने मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य को अच्छा रखना चाहते हैं तो आपको चिलगोजा का सेवन करना चाहिए।

चिलगोजा के पौष्टिक तत्व – Chilgoza Nutritional Value in Hindi

आइये जानते हैं चिलगोजा के पौष्टिक तत्व एवं उनकी मात्रा प्रति 100 ग्राम में —

पोषक तत्व मात्रा
ऊर्जा 673 kcal
प्रोटीन 13.68 g
वसा 68.36 g
विटामिन बी-60.094 mg
विटामिन ई 9.33 mg
विटामिन सी 0.8 mg
विटामिन के53.9 µg
कार्बोहाइड्रेट 13.00 g
फाइबर3.7g
कैल्शियम 16 mg
फॉस्फोरस 575 mg
पोटैशियम597 mg
सोडियम 2 mg
आयरन 5.53 mg
जिंक 6.45mg
थायमिन0.364 mg
रिबलोफ्लेविन 0.227 mg
नियासिन4.387 mg
फोलेट, डीएफई 34 µg
फैटी एसिड्स— सैचुरेटेड 4.899g
फैटी एसिड्स—मोनोअनसैचुरेटेड 18.764g

चिलगोजा के नुकसान – Side Effects of Chilgoza in Hindi

चिलगोजा हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद है लेकिन यदि आप इसका सही प्रकार से सेवन नहीं करते हैं तो यह आपको नुकसान पहुंचा सकता है। इससे जुड़ी सावधानियां आपको बताने  जा रहे हैं जो निम्न हैं —

  • यदि आपको नट्स में पाये जाने वाले किसी पदार्थ से एलर्जी है तो आपको इससे एलर्जी होने का खतरा रहता है।  इनके सेवन से आपके चेहरे में सूजन, सांस लेने में परेशानी एवं त्वचा में खुजली और दानों का निकलना जैसी समस्याएं हो सकती हैं। यदि आपको एलर्जी की समस्या है तो आपके इसके सेवन से पहले अपने डॉक्टर से अवश्य पूछ लेना चाहिए। अन्यथा आपको नुकसान हो सकता है।
  • इसका अधिक सेवन न करें क्योंकि चिलगोजा में ओमेगा-6 की प्रचूर मात्रा पाई जाती है जिसका अधिक सेवन हानिकाकर हो सकात है।
  • यदि आप चिलगोजे का अधिक सेवन करते हैं तो आपके अन्दर कैलोरी की मात्रा बढ़ जाती है जिससे आपके वजन बढ़ने की समस्या हो सकती है।

यदि आप चिलगोजा का प्रयोग सही प्रकार से करते हैं तो यह आपके लिए बहुत ही लाभदायक हो सकता है। हमने इस लेख में आपको इसके बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है जिससे आपको इसके चिलगोजा के फायदों एवं उपयोग के बारे में समझा में आ गया होगा। हम आशा करते हैं कि चिलगोजा के फायदों को जान लेने के बाद आप इसको अपने नियमित आहार में जरूर शामिल करेंगे जिससे आपका स्वास्थ्य अच्छा रहे । यदि आपको यह लेख ” चिलगोजा के फायदे और नुकसान – Pine Nuts (Chilgoza) Benefits and Side Effects in Hindi – chilagoja ke phaayade ” अच्छा लगा तो आप इसको अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें।

Leave a Comment

close
Copy link
Powered by Social Snap