Brown Rice Benefits in Hindi | ब्राउन राइस खाने के फायदे और नुकसान

Brown Rice Benefits in Hindi — चावल के सभी शौकिन होते हैं पर खाने से डरते हैं। कहीं मोटापा न बढ़ जाय, शुगर न बढ़ जाय या फिर कोई और समस्या न हो जाय। मगर क्या आप जाते हैं एक चावल ऐसा भी है जो आपके लिए फायदेमंद होता है और वह है ब्राउन राइस। ब्राउन राइस न खाने में चावल की तरह ही होता बल्कि उससे पौष्टिक भी होता है और यह आपके वजन को भी कम करने में मदद करता है।

वजन कम करने के अलावा ब्राउन राइस (Brown Rice) के हमारे लिए और भी कई फायदे होते हैं। जिनको हम इस लेख में आपको बताने जा रहे हैं। इसके अलावा हम इस लेख में जानेंगे ब्राउन राइस क्या हैं, ब्राउन राइस के फायदे, ब्राउन राइस के उपयोग, What is Brown Rice in Hindi और ब्राउन राइस के नुकसान। तो आइये शुरू करते हैं इस लेख को —

Table of Contents

ब्राउन राइस क्या हैं – What is Brown Rice in Hindi

ब्राउन राइस चावल का बिना रिफाइंड किया हुआ रूप होता है। यह एक प्राकृतिक चावल है जिसको बिना प्रोसेस के तैयार किया जाता है। यह बिना पॉलिश के होता है जिस कारण से इसका रंग ब्राउन होता है। इसी कारण से इसका नाम ब्राउन राइस पड़ा है। सामान्य रूप से यह सफेद चावल से देर में पकता है और इसका स्वाद भी उससे अलग ही होता है परन्तु इसमें उससे ज्यादा पोषक तत्व पाये जाते हैं।

इसका कारण है इसका रिफाइन प्रक्रिया से न गुजरा तथा इसको पॉलिश भी नहीं किया जाता है। इसको सिर्फ धान के उपर की परत को हटाकर ही तैयार किया जाता है। यदि आप ब्राउन राइस खाते हैं तो आपको पर्याप्त मात्रा में कैलोरी मिल जाती है साथ ही उसमें पाये जाने वाले पौषक तत्व जैसे विटामिन, फाइबर और मिनरल्स मिलते हैं जो हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं।

ब्राउन राइस के पौष्टिक तत्व – Brown Rice Nutritional Value

ब्राउन राइस में कई प्रकार के पोषक तत्व पाये जाते हैं जो हमारे लिए फायदेमंद होते हैं। नीचे एक टेबल दी गई है जिसमें Brown Rice में पाये जाने वाले पोषक तत्वों को उनकी मात्रा के साथ दिया गया है। पोषक तत्वों की मात्रा प्रति 100 ग्राम ब्राउन राइस के अनुसार दी गई है।

पोषक तत्व          मात्रा

शुगर0.24 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट 25.58 ग्राम
मैग्नीशियम 39 मिलीग्राम
पोटैशियम86 मिलीग्राम
फास्फोरस 103 मिलीग्राम
सोडियम 4 मिलीग्राम
जिंक 0.71 मिलीग्राम
कैल्शियम 3 मिलीग्राम
आयरन0.56 मिलीग्राम
फैट0.97 ग्राम
फोलेट9 माइक्रोग्राम
प्रोटीन 2.74 ग्राम
फाइबर1.6 ग्राम

ब्राउन राइस के फायदे – Benefits of Brown Rice in Hindi

ब्राउन राइस में प्रचूर मात्रा में प्रोटीन के साथ ही कई प्रकार के मिनरल पाये जाते हैं जैसे — मैग्नीशियम, पोटैशियम एवं फास्फोरस जो हमारी सेहत के लिए फायदेमंद माने जाते हैं। यह हमारी सेहत ही नहीं बल्कि हमारी त्वचा और बालों के लिए भी बहुत फायदेमंद हैं।  आगे के ​लेख में हम जानेंगे कि यह हमारे लिए किस प्रकार फायदेमंद होता है।

1. वजन कम करने में ब्राउन राइस के फायदे

ब्राउन राइस उसके लिए भी फायदेमंद होता है जो अपना वजन घटना चाहता है। इसको खाने से वजन घटाने में मदद मिलती है। ब्राउन राइस में प्रचूर मात्रा में फाइबर होता है जो वजन को कम करने और उसे नियंत्रित रखने में मदद करता है। फाइबर युक्त भोजन को पचने में समय लगता है जिससे आपको बहुत देर तक भूख नहीं लगती और आप कम भी खाते हैं। ऐसा करने से आपके शरीर को कैलोरी की मात्रा कम प्राप्त होती है और आपको वजन नियंत्रित रहता है।

2. कोलेस्ट्रोल में ब्राउन राइस के लाभ —

हृदय रोग का सबसे बड़ा कारण है शरीर में कोलेस्ट्रोल का बढ़ जाना। यदि आप बढ़ते कोलेस्ट्रोल से परेशान तो आप इसको नियंत्रित करने के लिए Brown Rice का भी प्रयोग कर सकते हैं। ब्राउन राइस में पाया जाने वाला फाइबर आपको देर तक भूख लगने से बचाता है और आपको भोजन बहुत ही धीरे—धीरे पचता है जिससे कोलेस्ट्रोल को खून में हल्के—हल्के मिलाने में मदद मिलती है। इसके अलावा ब्राउन राइस बेड कोलेस्ट्रोल के स्तर को भी कम करने में सहायता करता है।

3. रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए ब्राउन राइस के फायदे

यदि आप अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ना चाहते हैं तो आपके लिए ब्राउन राइस खाना फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि इसमें पाये जाने वाला विटामिन— ई एंटीऑक्सीडेंट की तरह ही काम कर सकता है। जो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का काम करता है। यदि आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है तो आप कई प्रकार की बिमारियों से बच सकते हैं।

4. मधुमेह में ब्राउन राइस के फायदे

एक शोध के अनुसार ब्राउन राइस टाइप 2 प्रकार के मधुमेह को नियंत्रित रखने में सहायता करता है। ब्राउन राइस में पाये जाने वाले प्रोटनी, फाइबर, फाइटोकेमिकल्स एवं मिनरल्स मधुमेह से लड़ने में मदद करते हैं। ब्राउन राइस में सफदे राइस की तुलना में कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स पाया जाता है जो ब्लड शुगर के स्तर को कम रखने में मदद करता है। इसकी कारण से मधुमेह के रोगियों को सफदे राइस के स्थान पर ब्राउन राइस खाने के लिए कहा जाता है।

5. ह्रदय रोगों में ब्राउन राइस के फायदे

यदि आप साबुत अनाज खाते हैं तो आपको ह्रदय रोग होने की संभावना करीब 20 प्रतिशत तक कम होती  है और ब्राउन राइस एक साबुत अनाज है। अत: आप इसका सेवन कर सकते हैं और हृदय रोगों से बच सकते हैं। ब्राउन राइस में प्रचूर मात्रा में फाइबर होता है जो आपके कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने में मदद करता है जिससे आपको ह्रदय रोग होने का खतरा बहुत ही कम हो जाता है।

6. कैंसर में ब्राउन राइस के लाभ

ब्राउन राइस में पाये जाने वाले पोषक तत्व आपको कैंसर से बचने में मदद कर सकता है। एक रिसर्च के अनुसार यदि आप अंकुरित ब्राउन राइस का सेवन करते हैं तो उसमें पाया जाने वाला गामा-एमिनोब्यूटिरिक एसिड (GABA) ल्यूकेमिया (ब्लड कैंसर) की कोशिकाओं को रोकने में सहायता करता है। परन्तु एक बात अवश्य याद रखें ब्राउन राइस किसी भी प्रकार से कैंसर का इलाज नहीं है। आप सिर्फ इसके सेवन से कैंसर से बचाव कर सकते हैं। कैंसर होने की दशा में आपको किसी अच्छे डॉक्टर से अपना उपचार अवश्य करना चाहिए।

7. तंत्रिका तंत्र के लिए ब्राउन राइस के फायदे

यदि आपका तंत्रिका तंत्र के सही प्रकार से काम नहीं कर रहा है तो आपको अल्जाइमर, पार्किंसंस व माइग्रेन जैसे रोग हो सकते हैं। यदि इन रोगों से बचना है तो आपको मैग्नीशियम तत्व की जरूरत होती है और  ऐसे में आपके लिए ब्राउन राइस फायदेमंद हो सकता है क्योंकि इसमें प्रचूर मात्रा में मैग्नीशियम पाया जाता है। इससे नियमित सेवन से आपका तांत्रिक तंत्र स्वस्थ बना रह सकता है।

8. पथरी में ब्राउन राइस के लाभ

यदि आपको पित्ताशय की पथरी है तो ऐसे में आपको ब्राउन राइस आराम दिलाने में मदद कर सकता है। पित्ताशय की पथरी होने पर सामान्यरूप से साबुत अनाज या फिर फाइबर युक्त भोजन करने की सलाह दी जाती है और ब्राउन राइस साबुत अनाज की श्रेणी में आता है साथ ही उसमें उच्च मात्रा में फाइबर पाया जाता है।

9. हड्डियों की मजबूती के लिए ब्राउन राइस के फायदे

यदि आप अपनी हड्डियों को तंदुरुस्त एवं मजबूत रखना चाहते हैं तो आपको मैग्नीशियम युक्त भोजन करना आवश्यक होता है। ऐसे में आपके लिए ब्राउन राइस फायदेमंद हो सकता है क्येांकि इसमें प्रचूर मात्रा में मैग्नीशियम पाया जाता है और आपकी हड्डियों को मजबूत करने के साथ ही स्वस्थ्य भी रखता है।

ब्राउन राइस का उपयोग – How to Use Brown Rice

हमने उपर के लेख में ब्राउन राइस से होने वाले स्वास्थ्य लाभ के बारे में बताया है जिसको जानकार आप इसको खाने की सोच रहे होंगे। अब हम आपको इसको किस प्रकार बनाया जाता है इसको बताने जा रहे हैं। जिससे की आप इसको सही प्रकार से बनाकर इससे होने वाले फायदों का लाभ ले सकें।

सबसे पहले आप जितना भी ब्राउन राइस लें उससे दूगनी मात्रा में पानी लें। आपको एक पैन में पानी को उलाने के लिए रख लेना चाहिए। जब पानी  उबल जाय तो उसमें ब्राउन राइस (Brown Rice in Hindi) डालें। अब इसके मध्यम आंच में करीब 30 मिनट तक पकाऐं। जब यह अच्छी तरह से पक जाये तो उसे गैस से उतार लें और 10 मिनट तक ढक कर छोड़ दें। अब इस Brown Rice में घी को डालें और गरमा गरम परोसें। इससे आप वेजिटेबल पुलाव या बिरयानी भी बना सकते हैं। इससे बनी खीर बहुत ही स्वादिष्ट होती है।

अब बात आती है कि आपको इसकी कितनी मात्रा का सेवन करना चाहिए तो हम बनाना चाहेंगे कि आप दिन में इसकी एक कप मात्रा का ही प्रयोग करें।

ब्राउन राइस से होने वाले नुकसान – Side Effects of Brown Rice

किसी भी चीज की अति अच्छी नहीं होती है। उसी प्रकार ब्राउन राइस का अधिक सेवन भी आपको नुकसान पहुंचा सकता है। क्योंकि ब्राउन राइस में आर्सेनिक की मात्रा अधिक होती है जिससे आपको कुछ दुष्प्रभाव होने की सम्भावना हो सकती है। नीचे कुछ  लक्षण आपको दिये गये है जो ब्राउन राइस को खाने के बाद दिख सकते हैं।

● आर्सेनिक की मात्रा शरीर में बढ़ने से त्वचा, लंग, और मूत्राशय का कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है।

● ब्राउन राइस को खाने से आपका जी मिचलाना हो सकता है या फिर उल्टी भी आ सकती है।

● ब्राउन राइस के सेवन से यदि आपको सिरदर्द हो तो ​तुरन्त डॉक्टर से सम्पर्क करें।

● ब्राउन राइस के प्रयोग से डायरिया की शिकायत हो सकती है।

दोस्तों आपको यह लेख Brown Rice Benefits in Hindi कैसा लगा यदि आपको अच्छा लगा तो इसको अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें। इस लेख में हमने आपको ब्राउन राइस के फायदे और उपयोग के साथ ही इससे होने वाली हानी के बारे में पूरी जानकारी दी है। साथ ही आपने जाना की ब्राउन राइस को किस प्रकार बनाया जाता है। ब्राउन राइस में पाये जाने वाले पौष्टिक तत्व हमारे लिए बहुत ही लाभकारी होता है। अत: आपको इसको अपने भोजन में अवश्य ही शामिल करना चाहिए।

Leave a Comment

close
Copy link
Powered by Social Snap