भद्रासन योग के फायदे – Bhadrasana ke fayde in Hindi

Bhadrasana in Hindi भद्रासन एक ध्यानात्मक आसन है। इसको हठ योग भी माना जाता हैं। जिसका प्रतिदिन अभ्यास करने से मन की एकाग्रता बढ़ती है।

भद्रासन योग की शुरूवात करने वाले लोगों के लिए सबसे सरल एवं उपयुक्त योग मुद्रा है। यह ध्यान लगाने के लिए एक अनुकूल आसन है क्योंकि यह सरल और  आरामदायक आसन है इसको अधिक समय तक भी किया जा सकता है।

भद्रासन योग Bhadrasana को अंग्रेजी भाषा में ‘ग्रेसिऑस पोज’ कहा जाता हैं। भद्रासन योग का प्रतिदिन अभ्यास करने से मन को शांत तो करना ही है यह हमारे शरीर को बिमारियों से लड़ने के लिए मजबूत बनाने साथ ही सुन्दर भी बनाता है।

यह  श्वसन तंत्र, फेफड़ों और पाचन तंत्र के लिए लाभदायक है। हम इस लेख में आपको भद्रासन योग के फायदों के साथ ही इसको करने की विधि भी बताने जा रहे हैं।

भद्रासन क्या है? What is Bhadrasana in Hindi

भद्रासन ध्यान आसनों में से एक मुख्य आसन है। भद्रासन लंबे समय तक बैठने के लिए उपयुक्त होता है, इसी कारण से हठ योग में इसे मुख्य आसन की जगह मिली है।

योग करने वाले योगी भद्रासन में बैठकर थकान से मुक्ति पाते हैं। भद्रासन को संस्कृत भाषा से लिए गया है। यह दो शब्दों को मिलाकर बनाया गया है। ‘भद्र’ अर्थात शुभ, ‘आसन’ अर्थात मुद्रा।

इसका अर्थ यह निकलता है कि वह आसन की वह मुद्रा जो शुभ होती है। इसको हठ योग प्रदीपिका में ‘सभी रोगों के नाशक’ के रूप में बताया गया है।

भद्रासन योग करने से पहले क्या करें?

भद्रासन योग करने से पहले आपको कुछ आसनों को अभ्यास कर लेना चाहिए। जिनसे आपको भद्रासन करने में आसनी हो सकती है।

  • वज्रासन योग
  • मंडूकासन योग
  • पद्मासन योग

भद्रासन योग करने का तरीका-Bhadrasana yoga Steps in Hindi

कोई भी आसन या योग हो उसको सही विधि एवं तरीके करना ही लाभदायक होता है। अत: हम आपको यहां भद्रासन करने का तरीका विस्तार से बताने जा रहे हैं —

  • वज्रासन की स्थिति में बैठें। जितना सम्भव हो सके घुटनों को दूर-दूर रखने का प्रयास करें।
  • ध्यान रहे कि पैरों की उंगलियों का सम्पर्क जमीन से बना रहे। अपने हाथों को सीधा करके घुटनों पर रखें।
  • अब अपने दोनों घुटनों को सामने की ओर से जितना हो सके उतना फैलायें। पर ध्यान दें की आपके पैर फर्श के संपर्क में ही हों।
  • घुटनों को और अधिक फैलाने का प्रयास करें, लेकिन फैलाते समय अधिक ताकत न लगाएं।
  • अपने कूल्हे को दोनों पैरों के बीच जमीन पर बनाये रखने के लिए पैरों को फैलाये।
  • अब हाथों को घुटनों पर रखें, हथेलियां नीचे की ओर होनी चाहिए।
  • जब आपका शरीर आराम की स्थिति में आ जाए तो आपनी रीढ़ को सीधा करें और नाक की नोक में केंद्र पर ध्यान केंद्रित करने का प्रयास करें। अगर आपकी आंखें थकने लगे तो उन्हें कुछ देर के लिए बंद कर सकते हैं।
  • कुछ समय पश्चात आंखों को पुन: खोल लें और फिर से इस क्रिया को दोहराएं।
  • यह पूरी क्रिया इसी प्रकार दस मिनट तक करें।

भद्रासन के फायदे -Bhadrasana Benefits in Hindi

भद्रासन हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद हैं। यह शरीर में होने वाली कई प्रकार के रोगों को दूर करने में सहायता करता है। तो आइये आगे इसके ​लाभों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

1. भद्रासन से पेट की समस्याओं का उपचार

कब्ज, एसिडिटी एवं पेट की अन्य परेशानियों के उपचार के लिए भद्रासन एक सुरक्षित एवं नेचुरल तरीका है।

इस आसन को करने से पाचन प्रक्रिया को बढ़ाया जा सकता है। भद्रासन योग करने से पेट के आंतरिक अंगों की हल्की मालिश हो जाती है जिससे पेट की मांसपेशियां को मजबूती मिती है।

पाचन शक्ति को बढ़ाना भद्रासन योग के कई लाभों में एक प्रसिद्ध स्वास्थ्य लाभ है।

2. थकान कम करने में भद्रासन योग के फायदे –

अगर आप दिन भर की थकान से परेशान रहते है तो यह आपके लिए यह योग को अच्छा है। भद्रासन योग थकान को कम करने में सहायक है। क्योंकि भद्रासन योग पूरी तरह से सांस पर आधारित है जिससे हमारे शरीर का रक्त प्रवाह बढ़ता है और हमें थकान को हटाने में मदद मिलती। यह योग हमारे अंदर की सुप्त बढ़ी  ऊर्जा के भंडार को जागृत करने का काम करता है।

3. आत्मविश्वास बढाने में भद्रासन के लाभ —

आत्मविश्वास को बढ़ाने में भद्रासन बहुत ही लाभदाय हो सकता है। यह योग हमारी रीढ़ के आधार पर स्थित मूलाधार चक्र को सक्रिय करने में मदद करता है। जिससे हमारी सुरक्षा, आंतरिक स्थिरता और आत्मविश्वास  की भावना को बढ़ावा मिलता है। क्योंकि आध्यात्म्कि विकास आधार ही  मूलाधार चक्र है। मूलाधार चक्र के कारण ही हम उर्जा एवं पोषण प्राप्त कर पाते हैं। इससे हमारा आत्मविश्वास बढ़ जाता है।

4. भद्रासन पीठ को करे मजबूत

अगर आपको अपनी पीठ को मजबूत करना है तो आपको प्रतिदिन भद्रासन योग करना चाहिए। यह योग करने से स्पाइनल कॉलम (spinal column) स्वस्थ और मजबूती की ओर बढ़ती है। इस आसन को करते समय रीढ़ को फैलाने का कार्य किया जाता है जिससे प्राकृतिक वक्र को मजबूत करने में सहायता मिलती है। इस कारण से आपके पीठ के दर्द को कम करने में भी मदद मिलती है। वर्तमान समय में लोगों का अधिकत समय डेस्क में बैठ कर ही गुजर जाता है। ऐसे में उनको पीठ का दर्द होना आम बात है। ऐसे में उनके लिए भद्रासन योग लाभदायक हो सकता है।

5. वैरिकाज नसों (Varicose Veins) को आराम देने के लिए भद्रासन योग के लाभ —

भद्रासन योग करने से पैरो में पायी जाने वाली वैरिकाज़ नसों को आराम मिलता है। वैरिकाज़ नसें हमारे हृदय में अनियमित रक्त की आपूर्ति होने का संदेश देती है। जिसके कारण अधिक समय तक स्वास्थ्य से जुड़ी हुई समस्यायें होती रहती हैं। जो लोग ऊँची एड़ी के जूते पहन कर अधिक समय तक चलते हैं या बैठे रहते हैं उनमें वैरिकाज नस निचले अंगों में दिखाई देने लगती है। भद्रासन वैरिकाज़ नसों को आराम देने का कार्य करता है।

भद्रासन योग के अन्य लाभ –

  • यह ध्यान में बैठने के लिए एक फायदेमं योग आसन हैं। इससे मस्तिष्क शांत होता है और हमारा दिमाग तेज होता है।
  • भद्रासन योग करने से हमारी एकाग्रता बढ़ती हैं।
  • भद्रासन से मन की चंचलता कम होती है और हमारा मन स्थित होता है।
  • इससे प्रजनन शक्ति को बढ़ाया जा सकता है।
  • भद्रासन योग स्मूथ डिलीवरी में भी लाभदाय होता है।
  • इसको करने से पैर के स्नायु मजबूत होते हैं।
  • भद्रासन करने से सिर दर्द, कमर दर्द, अनिद्रा जैसी समस्या में तो राहत मिलती ही है साथ ही यह हमारी आंखों की रोशनी को बढ़ाने में भी लाभदायक होता है।

भद्रासन करने में बरती जाने वाली सावधानियां

  • गर्भवती महिलायें इस आसन किसी योगाचार्य की निगरानी में ही करना चाहिए।
  • अगर आपको घुटने का दर्द है तो आपको इस आसन को करने से बचाना चाहिए।
  • अगर आपको इस आसन को करने समय कमर में दर्द का अहसास हो तो तुरन्त इसको छोड़ दें।
  • पेट की मांसपेशियों में दर्द होने पर भी इस आसन को नहीं करना चाहिए।
  • इस योग को करने पर आपको ​कोई परेशानी हो तो तुरन्त डॉक्टर या विशेषज्ञ से सलाह करें।

Leave a Comment

Copy link
Powered by Social Snap