अरारोट के फायदे और नुकसान | Arrowroot Benefits and Side Effects

अरारोट के फायदे (Ararot ke Fayde) — इस लेख में हम आपको अरारोट के फायदों और नुकसानों के बारे में बताने जा रहे हैं। आप सभी अरारोट के बारे में जानते ही होंगे क्या आपको पता है कि यह एक प्रकार कंद से प्राप्त होता है। आयुर्वेद में इसे जड़ी—बूटी का दर्जा हांसिल है। इसमें कई प्रकार के पौषक तत्व पाए जाते हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिएि लाभदायक होते हैं।

बाजार में अरारोट पाउडर के रूप में पाया जाता है, अरारोट को कंद और तने को सूखा कर पीस कर जो पाउडर तैयार होता है वही पाउडर आपको बाजार में अरारोट के नाम से बाजार में मिलता है। आइये अब आगे के लेख में हम अरारोट के फायदों और नुकसानों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

Table of Contents

अरारोट के फायदे — Arrowroot Benefits in Hindi

अरारोट कई प्रकार के पकवानों में प्रयोग किया जाता है। यह एक प्रकार का कंद होता है जिसकी खेती इसके कंद और तने से तैयार होने वाले पाउडर केे लिए की जाती है। तैयार होने पर यह पाउडर ही अरारोट के नाम से बाजार में आपको मिलता है। जिसका प्रयोग कई प्रकार से किया जाता है। आगे लेख में हम इससे होने वाले फायदों के बारे में विस्तार से जानेंगे।

1. रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए अरारोट

यदि आप अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाना चाहते हैं तो आपको अरारोट का प्रयोग करना चाहिए। क्योंकि इसें प्रचूर मात्रा में विटामिन सी के साथ ही कई ऐसे गुण पाये जाते हैं जोे रोग प्रतिरोधक क्षमता का बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। एक रिसर्च के अनुसार अरारोट में पाया जाने वाला स्टार्च हमारे लिए फाइबर की तरह ही कार्य करता है जो हमें अतिरिक्त उर्जा प्रदान कर शरीर को रोगों से लड़ने में मदद करता है।

2. पाचन के लिए अरारोट

अरारोट में पाया जाने वाला फाइबर पाचन से जुड़े रोगों में फायदेमंद हो सकता है। यह पेट के दर्द के अलावा कब्ज को भी कम करने में मदद करता है। इसके अतिरिक्त अरारोट में मिलने वाला प्रोबायोटिक बैक्टीरिया हमारी आंतों को स्वस्थ्य बनाये रखने में सहायक होता है जिससे हमारी पाचन शक्ति तो बढ़ती ही है साथ ही पेट से जुड़ी समस्याओं का भी अन्त होता है।

3. त्वचा के लिए अरारोट

अरारोट में प्रचूर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है जो हमारी त्वचा के लिए​ बहुत ही जरूरी तत्व है। यह हमारी त्वचा को नमी प्रदान करने के साथ ही उसे बेजान होने से भी बचाता है। इसके अतिरिक्त बढ़ती उम्र में चेहरे में पढ़ने वाली झुर्रियों और दाग—धब्बों को भी कम करने में मदद करती है। विटामिन सी यूवी किरणों से त्वचा को होने वाले नुकसान से भी बचाने में मदद करती है।

4. मधुमेह में अरारोट

यदि आप मधुमेह अर्थात डायबिटीज के मरीज हैं तो अरारोट आपके लिए फायदेमंद हो सकता है क्योंकि इसमें पाया जाने वाला ग्लाइसेमिक इंडेक्ट शरीर में कार्बोहाइड्रेट को तेजी से ग्लूकोज में बदलने से रोकता है। जिससे शरीर में ग्लूकोज की मात्रा नियंत्रित रहती है। अत: ऐसे कह सकते हैं कि अरारोट को प्रयोग आप मधुमेह के मरीजों के लिए फायदेमंद हो सकता है।

5. वजन कम करने में अरारोट

यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो आप अरारोट का प्रयोग कर सकते हैं क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो आपको लम्बे समय तक भूख  लगने से बचाता है जिससे आप अधिक भोजन करने से बच जाते हैं और आपको बढ़ता वजन नियंत्रित रहता है।

6. हृदय के लिए अरारोट

हृदय रोगियों के लिए अरारोट बहुत ही फायदेमंद माना जाता है क्योंकि इसमें पाया जाने वाला फ्लेवोनॉयड तत्व प्राकृतिक रूप से हृदय की समस्याओं से बचने में फायदेमंद हो सकता है। इसके अतिरिक्त अरारोट में पोटेशियम भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है जो उच्च रक्तचाप के लिए फायदेमंद माना जाता है। यह हार्ट अटैक एवं धमनियां से जुड़े हृदय के रोगों से बचने में मदद करता है।

7. दस्त में अरारोट

वजन को नियंत्रित करने के साथ ही अरारोट दस्त अर्थात डायरिया के उपचार में भी फायदेमंद है। एक रिसर्च में पाया गया है कि अरारोट के पाउडर में पाए जाने वाले एंटी डायरिया गुण आपको दस्त की समस्या से मुक्ति दिलाने में मदद कर सकते हैं। ऐसा माना जाता है कि यदि आप अरारोट का सेवन अधिक समय से कर रहे हैं तो आपको दस्त की समस्या में राहत मिल सकती है।

अरारोट के नुकसान (Arrowroot Side Effects in Hindi)

1.  यदि आप किसी प्रकार के खतरनाक बिमारी से ग्रसित हैं और उसके लिए दवा का सेवन कर रहे हैं तो आपको अरारोट के सेवन से पहले अपने डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए क्योंकि इसमें पाये जाने वाले तत्व आपके लिए खतरनाक हो सकते हैं।

2. अरारोट का प्रयोग आपकेा दूध, चीनी, नींबू और फलों के रस के साथ नहीं करना चाहिए क्योंकि यदि आप ऐसा करें आपको नुकसान हो सकता है।

3. यदि आपको अरारोट में पाये जाने वाले किसी भी तत्व से एजर्ली है तो आपको इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

4. अरारोट के सेवन से आपको एजर्ली होने के साथ ही उल्टी, मतली और खांसी हो सकती हैै अत: अगर ऐसे लक्षण आपको दिखाई दें तो तुरन्त अरारोट का सेवन बन्द कर डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए।

5. शराब के साथ इसका सेवन न करें यह आपको नुकसान पहुंचा सकता है।

दोस्तों आपने इस लेख में अरारोट के बारे में जान लिए होगा। आपको इसके फायदों के साथ ही इससे होने वाले नुकसानों के बारे में जानकारी प्राप्त हो गई होगी। थोड़ी सी सावधनी बरत कर आप अरारोट से होने वाले बहुत से फायदों का लुफ्त उठा सकते हैं। यदि आपको यह लेख पसंद आया तो इस लेख को अपने दोस्तों के साथ अवश्य ही शेयर करें।

Leave a Comment

close
Copy link
Powered by Social Snap